हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

साल की आखिरी मन की बात में प्रधानमंत्री मोदी ने कही ये बड़े बातें..

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज रविवार को साल के आखिरी मन की बात रेडियो प्रोग्राम को संबोधित किया। पीएम ने अपने संबोधन की शुरुआत में कहा कि इस समय आप 2021 की विदाई और 2022 के स्वागत की तैयारी में जुटे ही होंगे। नए साल पर हर व्यक्ति, हर संस्था, आने वाले साल में कुछ और बेहतर करने, बेहतर बनने के संकल्प लेते हैं। ये जनशक्ति की ही ताकत है, सबका प्रयास है कि भारत 100 साल में आई सबसे बड़ी महामारी से लड़ सका। हम हर मुश्किल समय में एक दूसरे के साथ एक परिवार की तरह खड़े रहे। अपने मोहल्ले या शहर में किसी की मदद करना हो, जिससे जो बना, उससे ज्यादा करने की कोशिश की।

यह भी पढ़ें: मौसम अपडेट: पहाड़ी जिलों में बर्फबारी और मैदानी क्षेत्रों में बारिश के आसार, अभी और गिरेगा तापमान..

प्रधानमंत्री मोदी की मन की बात में की खास बातें…
1- हर नई शुरुआत अपने सामर्थ्य को पहचानने का एक अवसर भी लाती है जिन लक्ष्यों की पहले हम कल्पना भी नहीं करते थे आज देश उन लक्ष्यों के लिए प्रयास कर रहा है।
2- आज़ादी का अमृत महोत्सव हमें आज़ादी की जंग की स्मृतियों को जीने का अवसर देता है, उसको अनुभव करने का अवसर देता है। ये देश के लिए नए संकल्प लेने, कुछ कर गुजरने की इच्छाशक्ति दिखाने का प्रेरक उत्सव है।
3- हर साल मैं विद्यार्थियों के साथ परीक्षा पर चर्चा करता हूं। इस साल भी परीक्षा से पहले मैं विद्यार्थियों के साथ चर्चा करने की योजना बना रहा हूं। इस कार्यक्रम के लिए 28 दिसंबर से रजिस्ट्रेशन शुरू होने जा रहा है.
4- अरुणाचल प्रदेश के लोगों ने साल भर से एक अनूठा अभियान चला रखा है और उसे ‘अरुणाचल प्रदेश एयरगन सरेंडर अभियान’ नाम दिया है। इस अभियान में लोग स्वेच्छा से अपनी एयरगन सरेंडर कर रहे हैं ताकि अरुणाचल प्रदेश में पक्षियों का अंधाधुंध शिकार रुक सके।
5- अरुणाचल प्रदेश पक्षियों की 500 से अधिक प्रजातियों का घर है। इनमें कुछ ऐसी देसी प्रजातियां भी शामिल हैं जो ​दुनिया में कहीं और नहीं पाई जाती हैं। अरुणाचल प्रदेश के लोग अपनी मर्जी से अब तक 1600 से ज़्यादा एयरगन सरेंडर कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें: गंगोत्री विधानसभा से भाजपा नेता जगमोहन रावत ने ठोकी ताल, उमड़ा जनसैलाब। खुलकर साथ आए वर्तमान प्रतिनिधि ..

पीएम ने वरुण सिंह को किया याद
वरुण सिंह उस हेलीकॉप्टर को उड़ा रहे थे जो इस महीने तमिलनाडु में हादसे का शिकार हो गया था। इस साल अगस्त में ही उन्हें शौर्य चक्र दिया गया था। इस सम्मान के बाद उन्होंने अपने स्कूल के प्रिंसिपल को एक चिट्ठी लिखी थी। इस चिट्ठी को पढ़कर मेरे मन में पहला विचार आया कि सफलता के शीर्ष पर पहुंच कर भी वो जड़ों को सींचना नहीं भूले। दूसरा कि जब उनके पास जश्न मनाने का समय था तो उन्होंने आने वाली पीढ़ियों की चिंता की।

PM मोदी ने बताई जनशक्ति की ताकत
मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने कहा कि ये जनशक्ति की ताकत है कि भारत 100 साल में आई सबसे बड़ी महामारी से लड़ सका, हम हर मुश्किल समय में एक-दूसरे के साथ परिवार की तरह खड़े रहे। आज विश्व में वैक्सीनेशन के आकड़ों की तुलना भारत से करें तो लगता है कि देश ने कितना अभूतपूर्व काम किया है।

यह भी पढ़ें: शहर कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन, बूथ लेवल पर पार्टी को मजबूत करने पर चर्चा..

शनिवार को पीएम मोदी ने किए तीन बड़े एलान
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल रात राष्ट्र के नाम अपने विशेष संबोधन में तीन बड़े ऐलान किए हैं, जिसमें उन्होंने बताया है कि अब 15 साल से 18 साल के बच्चों को कोरोना की वैक्सीन मिलने जा रही है। इसी के साथ पीएम मोदी ने फ्रंटलाइन वर्कर्स, हेल्थ वर्कर्स और 60 साल से ज्यादा के गंभीर बीमारी वालों को बूस्टर डोज देने का भी ऐलान किया है। पीएम मोदी ने अपने विशेष संबोधन में बताया कि देश में 15 साल से 18 साल के बच्चों को वैक्सीन मिलेगी और बच्चों का वैक्सीनेशन 3 जनवरी 2022 से शुरू हो जाएगा। बता दें कि आंकड़ों के मुताबिक देश में इस आयु वर्ग के करीब 8 करोड़ बच्चे हैं, जिन्हें इसका फायदा मिलेगा।

यह भी पढ़ें: क्या होती है मांगल? केदारघाटी में मांगल और खुदेड गीतों का मेला शुरू..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X