हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

कोरोना कहर जारी, 2 की मौत। चुनावी रोड़ शो और सभाओं पर भी लगी रोक..

उत्तराखंडः प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार लगातार बढ़ती जा रही है। प्रदेश में सबसे ज्यादा हालात खराब राजधानी देहरादून के होते जा रहे हैं राजधानी में लगातार रिकोर्ड तोड़ मामले सामने आ रहे हैं। कोरोना की यह तीसरी लहर बेक़ाबू होती दिख रही है। इस साल के साथ शुरू हुई नए पॉजीटिव मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी का अब भयावह रूप देखा जा रहा है। आज शनिवार को राज्य में 3848 कोरोना पॉजीटिव मरीज मिले। जबकि 1184 लोग रिकवर हुए। इसके बाद अब राज्य में एक्टिव केसों की संख्या 14892 पहुंच गई है। जबकि राज्य मे आज कोरोना से 2 लोगों की मौत हुई, जिसके साथ राज्य मे कुल मौत का आंकड़ा 7440 हो गया है।

यह भी पढ़ेंः इस सीट पर असमंजस में भाजपा, इस दुर्ग को भेदना कांग्रेस के लिए रहा है सपना..

राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी 6:00 बजे के बुलेटिन के अनुसार राज्य में कई पुराने रिकॉर्ड तोड़ते हुए फिर 3848 नये मामले सामने आए हैं। वहीं देहरादून में सबसे ज्यादा 1362 मामले सामने आए फिर नैनीताल में 719, हरिद्वार में 641, उधमसिंह नगर में 412 मामले साने आए हैं तो वहीं पौड़ी में 168, अल्मोड़ा में 128, टिहरी में 109, उतरकाशी में 28, बागेश्वर में 75, पिथौरागढ़ में 50, रुद्रप्रयाग में 26, चंपावत में 67, चमोली में 63 संक्रमित केस मिले है। राज्य में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 367272 पहुंच गया है। वहीं उत्तराखंड मे 337537 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए है। अब राज्य में सैंपल पॉजीटिविटी रेट 12:42 फीसदी हो गई है। वहीं रिकवरी रेट घटकर 91.90 फीसदी रह गई है।

यह भी पढ़ेंः बीजेपी संसदीय बोर्ड की आज अहम बैठक, कई के काटेंगे टिकट तो कई दिग्गज होंगे इधर से उधर..

चुनावी रैलियों, रोड़ शो और सभाओं पर भी लगी रोक…
वहीं बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए इससे नियंत्रण व रोकथाम को लेकर केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने बड़ा फैसला लिया है, जिसके अनुसार पांच राज्यों में चल रहे विधानसभा चुनाव की रैलियां आगामी 22 जनवरी तक रोक लगाई गई है। इससे पूर्व यह प्रतिबंध 16 जनवरी तक था। बताते चलें कि पांच राज्यों समेत उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव के लिए बीती आठ जनवरी को चुनाव आचार संहिता लागू की गई थी। जिसके बाद 16 जनवरी तक चुनावी सभाओं पर रोक लगाई गई थी। अब एक बार फिर से 22 जनवरी तक फिलहाल चुनावी सभाएं, नुक्कड़ सभाएं, रोड शो आदि नहीं हो सकेंगे। हालांकि नियत संख्या में कोविड गाइडलाइन का अनुपालन करते हुए घर-घर प्रचार चलता रहेगा। इसके अलावा वर्चुअल रैलियों से प्रत्याशी मतदाताओं से संपर्क साधते रहेंगे।

यह भी पढ़ेंः टिकटों को लेकर दिल्ली में हंगामेदार रही कांग्रेस की बैठक, ये नेता आमने सामने..

Like, Share & Subscribe…
Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X