हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

गंगोत्री सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ सकते हैं जगमोहन रावत-सूत्र

Hillvani-Jagmohan-Rawat-Uttarakhand

Hillvani-Jagmohan-Rawat-Uttarakhand

उत्तरकाशीः भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश की 59 विधानसभा सीटों पर अपने प्रत्याशियों के नाम घोषित कर चुकी है। जिसमें उत्तरकाशी जनपद की तीनों विधानसभाओं के नाम भी हैं। जिमसे एक वीवीआईपी सीट गंगोत्री भी है। भारतीय जनता पार्टी ने यहां से सुरेश चौहान को पार्टी का प्रत्याशी घोषित किया है। जिसके बाद सूत्रों से जानकारी मिल रही हैं कि भाजपा के वरिष्ठ नेता पूर्व जिला संयोजक जगमोहन सिंह रावत कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं। जिसका सीधे तौर पर कहा जाए तो भाजपा को होगा बड़ा नुकसान और विपक्ष की राह होगी आसान…

यह भी पढ़ेंः प्रदेश की 11 सीटों पर फंसी भाजपा, जानिए कहां फंसा है पेंच..

आपकों बता दे जगमोहन रावत ने अपनी दावेदारी सबसे पहले 2017 में ही पेश की थी। जब स्व. गोपाल रावत जीवित थे तभी भी जगमोहन रावत ने अपनी दावेदारी मजबूती से सामने रखी थी और लगातार जनता के बीच सुख दुःख में निरन्तर खडे़ रहे। जगमोहन की अपने क्षेत्र में अच्छी पकड़ भी मानी जाती है जिसके चलते 2019 में उन्होने अपनी पत्नी को भारी बहुमत से जीत दिलाकर दूसरी बार प्रमुख पद पर बिठाया और लगातार जनता से सम्पर्क में रहे। वर्तमान जनप्रतिनिधि भी उनसे काफी करीब माने जाते हैं और अब लगातार उनका जनमत उनके साथ खड़ा है। सूत्रों का कहना है कि जगमोहन रावत निर्दलीय प्रत्याशी के तौर गंगोत्री सीट से चुवान लड़कर पार्टी को जबाब देना चाहते हैं।

यह भी पढ़ेंः आज से नामांकन प्रक्रिया शुरू, कोरोना नियमों का रखना होगा ध्यान..

सूत्र का कहना है कि जिस प्रकार से उनको जनप्रतिनिधियों का सहयोग मिलने की बात हो रही है तो निश्चित इसका नुकसान पार्टी को होने जा रहा है। सूत्रों से यह भी जानकारी मिल रही हैं कि भाजपा पार्टी के मूल अन्य दावेदारी कर रहे नेता व वरिष्ठ नेता भी जगमोहन रावत को अंदर ही अंदर सपोर्ट कर रहे हैं। यह कहना गलत नहीं होगा कि भाजपा प्रत्याशी घोषित होते ही बगावत के सुर उठ रहे हैं जिसका पार्टी के भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है।

यह भी पढ़ेंः बीजेपी के 10 सीटिंग विधायकों का कटा टिकट, 10 को मिला मौका…

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X