हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

Health Tips: कोरोना की थर्ड वेव से बचना चाहते हैं, तो करें इन चीजों का सेवन और योग..

देश में कोरोना की दूसरी लहर को कंट्रोल हुए लगभग तीन महीने हो चुके हैं। लेकिन कोरोना की रफ्तार एक बार फिर से डराने लगी है। कोरोना के बढ़ते आंकड़ों ने वायरस को लेकर कई सारे सवाल खड़े कर दिए हैं। सवाल ये है कि क्या अचानक से बढ़े केस तीसरी लहर की तरफ एक इशारा है? क्या ये थर्ड वेव की दस्तक है? क्या थर्ड वेव बच्चों पर हमला करेगी? क्या थर्ड वेव में डेल्टा प्लस वायरस सिर उठाएगा? एक तरफ तीसरी लहर का डर है तो दूसरी तरफ अभी लोगों के सेकेंड वेव के घाव भरे नहीं हैं।

कुछ रिपोर्टस का दावा है कि कोरोना की तीसरी लहर डेल्टा वेरिएंट के कारण आ सकती है। यह वेरिएंट अब म्यूटेशन के साथ डेल्टा प्लस में बदल गया है, जोकि और भी खतरनाक हो सकता है। ऐसे में तीसरी लहर से बचाव के उपायों को अभी से प्रयोग में लाना बेहद आवश्यक हो जाता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक कोरोना की पहली दो लहरों की तरह इस बार भी खतरा उन लोगों में ज्यादा होगा, जिनकी इम्यूनिटी कमजोर है। फिलहाल वैक्सीनेशन के कारण काफी लोगों को सुरक्षित माना जा सकता है।

Read More बागेश्वर: 8 मोटर मार्गों के निर्माण को मिली 177.93 लाख रुपये की स्वीकृति..

अभी संक्रमण का खतरा टला नहीं है। ऐसे में तीसरी लहर से बचाव की तैयारियों को अभी से शुरू कर देना चाहिए। सवाल है कि माता पिता बच्चों को कैसे स्ट्रॉन्ग बनाएं? लॉन्ग कोविड से कैसे निपटा जाए? डेल्टा प्लस वैरिएंट के म्यूटेशन के बीच इम्युनिटी को कैसे मजबूत किया जाए? सबसे पहले लॉन्ग कोविड के लक्षण को समझना जरूरी है जिसमें हल्का बुखार, बदन दर्द, लंबे वक्त तक खांसी, सीने में भारीपन, धड़कन तेज होना, सिरदर्द, नर्व्स प्रॉब्लम, कमजोर याददाश्त, पेट की परेशानी, शुगर लेवल बढ़ना जैसी परेशानियां होती हैं।

तीसरी लहर से कैसे बचें?
30 मिनट योग करें। 20 मिनट प्राणायाम करें। 20 मिनट की धूप लें। गिलोय-तुलसी का काढ़ा पिएं। रात में हल्दी दूध पिएं। वैक्सीन जरूर लगवाएं 
कमजोरी दूर करने के उपाय
हरी सब्जियां खाएं। आंवला-एलोवेरा जूस पिएं। टमाटर का सूप पिएं 
लंग्स को बनाएं हेल्दी
गर्म पानी पिएं। तुलसी उबालकर पिएं। ठंडा पानी न लें। तुले-भुने खाने से बचें
इम्युनिटी बढ़ाने के लिए इन चीजों का करें सेवन
श्वसारि क्वाथ, अश्वशिला, च्यवनप्राश, शहद, एलोवेरा जूस, गिलोय जूस 

Read More निर्देश: जिलाधिकारी ने ली विभागों की बैठक, कहा योजनाओं को करें तय समय पर पूरा..

गिलोय के फायदे 
खून की कमी को दूर करने में सहायक। पेट से जुड़ी बीमारियों में लाभकारी। बुखार दूर करने में मददगार।  हाथ-पैरों में जलन दूर करता है 
त्रिफला जूस फायदेमंद
रोज सुबह त्रिफला जूस का सेवन करें। इससे इम्यून सिस्टम मजबूत होगा।
साइड इफेक्ट पर ऐसे होगा वार 
टाइफाइड में खूबकला, अंजीर, मुनक्का कारगर। निमोनिया में खाली पेट श्वसारि लेना फायदेमंद। लंग्स के लिए द्राक्ष का उपवास करें। ब्रेन के लिए मेधावटी और बादाम रोगन लें और अनार, सेब, मौसमी, अनानास, आंवला लें, एक महीने तक मुनक्का और अंजीर खाएं। दूध, दही, छाछ, सोया प्रोडक्ट्स लें, रोज दूध में हल्दी, शिलाजीत, च्यवनप्राश लें।

Read More भारत-नेपाल सीमा: सशर्त आवागमन हुआ बहाल, दिखानी होगी कोरोना जांच रिपोर्ट..

प्रतिदिन करें योग रहें निरोग
ताड़ासन के फायदे- रोज अभ्यास से लंबाई बढ़ती है। दिल को मजबूत बनाता है। ब्लड सर्कुलेशन अच्छा होता है। घुटने, टखने मजबूत बनते हैं। दर्द-थकान मिटाने में मददगार।
तिर्यक ताड़ासन के फायदे- शरीर लचीला रहता है। वजन घटाने के लिए कारगर।
उष्ट्रासन के फायदे- मोटापा दूर करने में सहायक। शरीर का पोश्चर सुधरता है। पाचन प्रणाली ठीक होती है।
मकरासन के फायदे- लंग्स मजबूत करता है। कमर दर्द में आराम मिलता है। तनाव दूर होता है। पेट से जुड़ी परेशानी में फायदेमंद।
भुजंगासन के फायदे- किडनी को स्वस्थ बनाता है। लिवर से जुड़ी दिक्कत दूर होती है। तनाव, चिंता, डिप्रेशन दूर करता है। कमर का निचला हिस्सा मजबूत होता है।
रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है। छाती चौड़ी होती है।
शीर्षासन के फायदे- डिप्रेशन दूर होता है। चेहरे पर चमक आती है। मेमोरी तेज होती है। ब्रेन में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाता है। सिरदर्द में आराम मिलता है।

Read More हादसा: अनियंत्रित ट्रक गिरा गहरी खाई में, चालक की दर्दनाक मौत..

सर्वांगासन के फायदे- तनाव और चिंता से मुक्ति मिलती है। एकाग्रता बढ़ती है। याद की हुई चीजें भूलते नहीं।
सिरदर्द ठीक करता है।
शलभासन के फायदे- फेफड़े सक्रिय होते हैं। नर्वस सिस्टम मजबूत होता है। खून को साफ करता है।
शरीर मजबूत बनता है। हाथ-कंधे मजबूत होते हैं।
सूर्य नमस्कार के फायदे- इम्युनिटी को स्ट्रॉन्ग करता है। एनर्जी लेवल बढ़ाने में सहायक है। वजन घटाने में मददगार। शरीर को डिटॉक्स करता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। पाचन तंत्र बेहतर होता है। शरीर को ऊर्जा मिलती है। फेफड़ों तक ज्यादा ऑक्सीजन पहुंचती है।
मंडूकासन के फायदे- डायबिटीज को दूर करता है। पेट और दिल के लिए भी लाभाकारी। पाचन तंत्र सही होता है। लिवर और किडनी को स्वस्थ रखता है
वक्रासन के फायदे- कैंसर की रोकथाम में कारगर। पेट की कई बीमारियों से राहत। पाचन क्रिया ठीक रहती है। कब्ज ठीक होती है।
गोमुखासन के फायदे- फेफड़ों की कार्यक्षमता बढ़ती है। पीठ-बांहों को मजबूत करता है। रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है।

Read More दहशत: आंगन में बैठे दंपति पर गुलदार का हमला, गांव में फैली दहशत..

उज्जायी प्राणायाम के फायदे- दिमाग को शांत करता है। शरीर में गर्माहट आती है। ध्यान लगाने की क्षमता बढ़ती है। दिल के रोगों में फायदेमंद।
अनुलोम-विलोम के फायदे- बॉडी में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ती है। तनाव और चिंता दूर होती है। वजन घटाने में बेहद कारगर। दिल को स्वस्थ रखने में सहायक है। अस्थमा के रोग को दूर करता है।
भस्त्रिका के फायदे- दिल को स्वस्थ रखने में सहायक। अस्थमा के रोग को दूर करता है। लंग्स क्लियर करता है। तनाव और चिंता दूर होती है।
कपालभाति के फायदे- नर्व मजबूत बनते हैं। शरीर के ब्लड फ्लो में सुधार होता है। पेट के लिए बेहद कारगर। सांस लेने में आसानी होती है।
उद्गीथ के फायदे- तनाव और चिंता दूर होती है। वजन घटाने में मदद करता है। नर्वस सिस्टम को ठीक करता है। मेमोरी पावर बढ़ाने में सहायक।

Read More क्राइम: पति ने की पहली पत्नी की हत्या, पाटल से किया गर्दन पर वार..

Disclaimer: HillVani लेख में जानकारी व सूचना को लेकर किसी तरह का दावा नहीं करता है। इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों की भी पुष्टि नहीं करता है। इनको केवल सुझाव के रूप में लें। इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X