हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

Health Tips: अधिक पानी पीना भी सेहत के लिए हानिकारक, इन बीमारियों का हो सकते हैं शिकार..

पानी हम सभी के जीवन का इतना ज़रूरी शब्द है कि इसके न होने की कल्पना करना भी काफी मुश्किल काम नज़र आता है। पृथ्वी ने लेकर मानव शरीर का सबसे बड़ा हिस्सा पानी ही है। पृथ्वी का 71 प्रतिशत हिस्सा पानी से ढका हुआ है, अनुमान के मुताबिक पृथ्वी पर कुल 32 करोड़ 60 लाख खरब गैलन पानी है। इंसानी शरीर की बात करें तो एक वयस्क पुरुष के शरीर का 65% जबकि महिला के शरीर का 52% हिस्सा पानी होता है। वयस्क मनुष्य के शरीर में हमेशा 35 से 40 लीटर पानी मौजूद रहता है।

पानी की जरूरत हर किसी को होती है। वहीं हम सभी बचपन से लेकर आज तक बड़ों को यही कहते सुना है की जितना ज्यादा पानी पिएंगे उतने अधिक स्वस्थ रहोगे। लेकिन जरूरत से ज्यादा हर चीज नुकसानदायक होती है। यानी अगर आप भी जरूरत से ज्यादा पानी पीते हैं तो इससे आपको ओवरहाइड्रेशन की समस्या होने लगती है। ऐसे में हम यहां आपको बताएंगे कि ज्यादा पानी पीने से आपकी सेहत को क्या-क्या नुकसान हो सकते हैं।

Health Tips: इन 7 आदतों को बना लें अपना दोस्त, रोज-रोज नहीं लेनी पड़ेगी BP की दवा..

ज्यादा पानी पीने से होने वाले नुकसान
किडनी को नुकसान- पानी ज्यादा पीने की वजह से किडनी को भी नुकसान होता है। दरअसल जब हम अधिक पानी पीते हैं तो इसकी वजह से आर्जिनिन वैसोप्रेसिन का प्लाज्मा स्तर कम हो जाता है। जिसका सीधा असर किडनी पर पड़ता है। ऐसे में अधिक पानी पीने से बचना चाहिए।
मस्तिष्क पर होने वाला असर- अगर आपको ओवरहाइड्रेशन है तो इसकी वजह से सोडियम का कम होने से ब्रेन में सूजन पैदा होती है। जिसकी वजह से दिमाग सही से काम नहीं कर पाता है। वहीं इसके अलावा कन्फ्यूजन की समस्या का भी सामना करना पड़ सकता है।

लीवर को नुकसान- ओपरहाइड्रेशन की वजह केवल साधारण पानी नहीं है। बल्कि जब आप आयरन युक्त पानी का अधिक सेवन करते हैं तो लीवर से जुड़ी समस्या हो सकती है। इसलिए इसके ज्यादा सेवन से बचना चाहिए।
हृदय को खतरा- अगर आप अधिक पानी पीते हैं तो इसकी वजह से हार्ट फेलियर की संभावना भी बढ़ जाती है। दरअसल जब आप अधिक पानी पीते हैं तो इससे शरीर में रक्त की मात्रा बढ़ जाती है जिसका सीधा दबाव हृदय की रक्त धमनियों पर पड़ता है। वहीं इसके अनावश्यक दबाव के चलते हार्ट फेलियर का खतरा पैदा हो जाता है। इसलिए पानी के अधिक सेवन से बचना चाहिए।

​सेल्स में आ जाती है सूजन- जब आप जरूरत से ज्यादा पानी पीने लगते हैं तो इसकी वजह से शरीर में सोडियम का लेवल कम होने लगता है। जिसके बाद पानी ऑस्मोसिस प्रक्रिया के जरिए सेल्स में प्रवेश कर लेता है। इसी के कारण सेल्स में सूजन की समस्या होने लगती है। यह स्थिति बहुत गंभीर समस्या को जन्म दे सकती है, जैसे मसल्स टिशु और ब्रेन का डैमेज होना आदि।
इंटॉक्सिकेशन से बचाव- अगर आपको ओवरहाइड्रेशन की समस्या है तो सबसे पहले आप यह देखें कि आप दिनभर में कितना पानी पीते हैं। अपने पानी पीने की मात्रा को सीमित करें। वहीं अगर आपको किसी तरह की समस्या हो रही है तो इसके लिए डॉक्टर की सलाह जरूर लें। साथ ही ऐसी किसी भी दवा से बचें जिसकी वजह से आपको ओवरहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है।

Health Tips: शरीर में दिखें ये 4 लक्षण तो खराब आंतों का है संकेत, तो अपनाएं ये 3 आसान उपाय..

आप ओवरहाइड्रेशन को कैसे रोक सकते हैं?
व्यायाम करते समय, हर घंटे 2 से 4 कप पानी पीने का प्रयास करें। यदि एक घंटे से अधिक समय तक व्यायाम करते हैं, तो स्पोर्ट्स ड्रिंक भी एक विकल्प बन सकता है। इन पेय पदार्थों में चीनी के साथ-साथ सोडियम और पोटेशियम जैसे इलेक्ट्रोलाइट्स भी होते हैं, जिन्हें आप पसीने में खो देते हैं। व्यायाम करते समय प्यास भी आपका मार्गदर्शन करती है। यदि आप प्यासे हैं, तो अधिक पानी पीएं। यदि आपको मधुमेह या गुर्दे की बीमारी जैसी कोई चिकित्सीय स्थिति है, तो सर्वोत्तम उपचार के बारे में अपने डॉक्टर से बात करें। अगर आपको असामान्य रूप से प्यास लगती है तो भी अपने डॉक्टर से संपर्क करें। यह एक मेडिकल प्रॉब्‍लम का संकेत हो सकता है जिसका इलाज करना जरूरी होता है।

Health Tips: फिट रहना चाहते हैं तो जानें किन चीजों को खाली पेट खाएं और किसे नहीं?

कैसे और कितना पानी पीना चाहिए
1- पानी धीरे-धीरे घूंट-घूंट करके पीना चाहिए जिससे वह शरीर के तापमान के मुताबिक ही अन्दर जाए। इसलिए गिलास के जरिये होंठ लगाकर पानी पीने का तरीका सबसे बेहतर माना जाता है। ज़्यादातर लोग गर्दन उठाकर ऊपर से पानी पीते हैं जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक माना जाता है। ऐसे पानी पीने से फ़ूड पाइप में हवा की जगह बनती है जिससे पाचन से जुड़ी बीमारियां होती हैं। गलत तरीके से पानी पीने से एसिडिटी, खट्टी डकार, जोड़ों में दर्द, घुटनों में दर्द जैसी परेशानियां भी होती हैं। कुछ लोग दो-तीन घंटे तक पानी नहीं पीते और फिर एक साथ बहुत सारा पानी पीते हैं। ये भी हेल्थ के लिए काफी खतरनाक हो सकता है, इसका किडनी और दिल पर होता है। पानी हर एक घंटे से एक-एक गिलास करके पीना चाहिए।

2- जब भी प्यास लगे तब पानी ज़रूर पीना चाहिए। खाना खाने से आधा घंटे पहले और खाना खाने के एक घंटे बाद ही पानी पीना चाहिए। खाना खाने से तुरंत पहले पानी पीने से पाचन शक्ति कमजोर होती है। खाना खाने के तुरंत बाद पानी पीने से शरीर फूलता है, मोटापा चढ़ता है और कब्ज की शिकायत हो जाती है। अगर हाई ब्लड प्रेशर, लू लग जाए, बुखार, कब्ज, पेट में जलन, पेशाब में जलन या यूरिन इन्फेक्शन जैसी दिक्कतों में ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए।

3- गर्म चाय या कॉफी आदि के तुरन्त बाद पानी नहीं पीना चाहिए। खीरा, खरबूजा या ककड़ी खाने के बाद पानी नहीं पीना चाहिए। धूप में काफी वक़्त बिताने के बाद एकदम पानी नहीं पीना चाहिए।

4- दिन में औसतन 8 गिलास पानी पीना चाहिए हालांकि पानी की यह मात्रा कई बातों पर निर्भर करती है, जैसे कि लिंग, उम्र, शारीरिक गतिविधियों का स्तर और पार्यावरण. चिकित्सा विशेषज्ञ बताते हैं कि जिस व्यक्ति की दोनों किडनी ठीक काम कर रही हों, उसे दिन में अपने शरीर के वजन के अनुपात में प्रति एक किलोग्राम पर 30 मिलीलीटर पानी पीना चाहिए।

Disclaimer: HillVani लेख में जानकारी व सूचना को लेकर किसी तरह का दावा नहीं करता है। इस आर्टिकल में बताई गई विधि, तरीक़ों व दावों की भी पुष्टि नहीं करता है। इनको केवल सुझाव के रूप में लें। इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले चिकित्सक की सलाह अवश्य लें।

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X