हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

Health Tips: वायरल फीवर को न करें नजरअंदाज, अपनाएं ये रामबाण घरेलू उपचार..

स्वास्थ्य सलाह: इस मौसम में वायरल फीवर का डर ज्यादा रहता है क्योंकि कोरोना की वजह से लोगों में बुखार को लेकर ज्यादा ही ड़र बना हुआ है। वहीं दूसरी तरफ बदलते मौसम की वजह से वायरल फीवर का मौसम चल रहा है। बारिश के बाद तेज धूप और चिलचिलाती गर्मी लोगों को बीमार कर रही है। मौसम के बदलने और तापमान में आने वाले बदलाव के कारण शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है, जिससे बुखार के बैक्टीरिया आसानी से शरीर में प्रवेश कर जाते हैं। वायरल का फीवर हमारे इम्यून सिस्टम को कमजोर कर देता है, जिसकी वजह से शरीर में इंफेक्शन बहुत तेजी से बढ़ता है। वायरल के संक्रमण बहुत तेजी से एक इंसान से दूसरे इंसान तक पहुंच जाता है। वायरल होने से वाले शरीर में कुछ इस तरह के लक्षण दिखते हैं जैसे गले में दर्द, खांसी, सिर दर्द थकान, जोड़ों में दर्द के साथ ही उल्टी और दस्त होना, आंखों का लाल होना और माथे का बहुत तेज गर्म होना आदि। बड़ों के साथ यह वायरल फीवर बच्चों में भी तेजी से फैलता है। ऐसे में घर पर ही रहकर आप इसका इलाज कर सकते हैं।

आइए जानें वायरल फीवर से बचाव के घरेलू नुस्खे…
1. हल्दी और सौंठ का पाउडर- अदरक में एंटी आक्सिडेंट गुण बुखार को ठीक करते हैं। एक चम्मच काली मिर्च का चूर्ण, एक छोटी चम्मच हल्दी का चूर्ण और एक चम्मच सौंठ यानी अदरक के पाउडर को एक कप पानी और हल्की सी चीनी डालकर गर्म कर लें। जब यह पानी उबलने के बाद आधा रह जाए तो इसे ठंडा करके पिएं। इससे वायरल फीवर से आराम मिलता है।
2. तुलसी का इस्तेमाल- तुलसी में एंटीबायोटिक गुण होते हैं जिससे शरीर के अंदर के वायरस खत्म होते हैं। एक चम्मच लौंग के चूर्ण और दस से पंद्रह तुलसी के ताजे पत्तों को एक लीटर पानी में डालकर इतना उबालें जब तक यह सूखकर आधा न रह जाए। इसके बाद इसे छानें और ठंडा करके हर एक घंटे में पिएं। आपको वायरल से जल्द ही आराम मिलेगा।

3. धनिया की चाय- धनिया सेहत का धनी होता है इसलिए यह वायरल बुखार जैसे कई रोगों को खत्म करता है। वायरल के बुखार को खत्म करने के लिए धनिया चाय बहुत ही असरदार औषधि का काम करती है।
4. मेथी का पानी- आपके किचन में मेथी तो होती ही है
मेथी के दानों को एक कप में भरकर इसे रात भर के लिए भिगों लें और सुबह के समय इसे छानकर हर एक घंटे में पिएं। वायरल फीवर से जल्द ही आराम मिलेगा।
5. नींबू और शहद- नींबू का रस और शहद भी वायरल फीवर के असर को कम करते हैं। आप शहद और नींबू का रस का सेवन भी कर सकते हैं।
6. नमक और आजवाइन- सफेद नमक एक छोटा चम्मच और थोड़ी आजवाइन को एक साथ भून लें। इसके बाद इसमें एक गिलास पानी मिला कर एक नींबू निचोड़ दें। इसे मरीज को दिन में दो से तीन बार पिलाएं।

Disclaimer: HillVani लेख में जानकारी व सूचना को लेकर किसी तरह का दावा नहीं करता है। इस आर्टिकल में बताई गई विधि, तरीक़ों व दावों की भी पुष्टि नहीं करता है। इनको केवल सुझाव के रूप में लें। इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले चिकित्सक की सलाह अवश्य लें।


2.2/5 - (4 votes)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X