सड़क हादसे में घायल SDM वेंटिलेटर पर, स्थिति अभी भी नाजुक। दुर्घटना मामले की मजिस्ट्रियल जांच शुरू..

0

ऋषिकेश/हरिद्वारः हरिद्वार के लक्सर में बीते दिन दर्दनाक हादसे की शिकार हुई लक्सर एसडीएम संगीता कन्नौजिया की हालात अभी भी नाजुक बताई जा रही है। 24 घंटे बीतने के बाद भी उनकी हालात में बिलकुल भी सुधार नहीं आया है। एम्स ऋषिकेश ने एसडीएम संगीता कन्नौजिया का हेल्थ बुलेटिन जारी कर दिया है। एम्स अस्पताल के मुताबिक उपजिलाधिकारी संगीता कन्नौजिया की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है। उनका सेचुरेशन लेवल कम होने और सांस लेने में आ रही दिक्कतों को देखते हुए उन्हें लाईफ सपोर्ट सिस्टम में रखा गया है। आपको बता दें कि दुर्घटना के बाद उपचार के लिए उन्हें बीते रोज मंगलवार को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश में भर्ती कराया गया था।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंडः पेड़ से लटकता मिला प्रेमी जोड़े का शव, दो हफ्ते से थे लापता..

एम्स के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल ने जानकारी देते हुए बताया कि इलाज प्रक्रिया के दौरान बीते रोज एम्स के ट्रॉमा चिकित्सकों ने उनकी विभिन्न जांचें और एमआरआई की थी। चिकित्सकों के अनुसार एमआरआई रिपोर्ट में उनकी गर्दन सहित छाती और सिर में गंभीर चोटें पाई गई हैं। साथ ही उनके एक हाथ की हड्डी भी टूटी पाई गई है। उन्होंने आग बताया कि उनका ब्लड प्रेशर काफी कम हो गया है और उन्हें सांस लेने में भी दिक्कत हो रही है। ब्लड प्रेशर और सेचुरेशन लेवल को नियंत्रित करने के लिए चिकित्सकों ने उन्हें लाईफ सपोर्ट सिस्टम वेन्टिलेटर पर रखा है। उनकी गंभीर स्थिति को देखते हुए एम्स के वरिष्ठ चिकित्सकों का दल उनकी स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए है।

यह भी पढ़ेंः मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का उत्तराखंड दौरा, यहां इस कार्यक्रम में करेंगे शिरकत..

दुर्घटना मामले की मजिस्ट्रियल जांच शुरू
जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय ने अवगत कराया है कि दिनांक 26 अप्रैल, 2022 को लगभग 10.30 बजे पूर्वान्ह में रुड़की-लक्सर मार्ग पर तहसील रुड़की अन्तर्गत सोलानी पुल के समीप संगीता कन्नौजिया, उप जिलाधिकारी, लक्सर के शासकीय वाहन की एक डम्पर से टक्कर हो जाने कारण वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो गया था तथा उक्त दुर्घटना के दौरान गोविन्द कुमार, वाहन चालक (पीआरडी) की घटना स्थल पर ही मृत्यु हो गई थी तथा संगीता कन्नौजिया गम्भीर रूप से घायल हो गई थीं, जिन्हें प्राथमिक उपचार के उपरांत हायर सेंटर एम्स ऋषिकेश के लिए डॉक्टरों के परामर्श पर रेफर कर दिया गया था। जिलाधिकारी ने यह भी अवगत कराया कि इस घटना में दिवंगत वाहन चालक (पी0आर0डी0), गोविन्द कुमार उर्फ गोविन्दा के मृत्यु एवं श्रीमती कन्नौजिया, उप जिलाधिकारी, लक्सर के गंभीर रूप से घायल होने संबंधी समस्त घटनाक्रम की विस्तृत मजिस्ट्रीयल जांच कराया जाना नितान्त आवश्यक है।

यह भी पढ़ेंः मांगल गीतों का संरक्षण करती केदारघाटी की स्वर कोकिला रामेश्वरी भट्ट। अन्य लोकगीतों को भी किया जीवित..

आप यदि है चश्मदीद गवाह तो दे सकते है बयान
जिलाधिकारी ने बताया कि इस घटनाक्रम की मजिस्ट्रीयल जांच किए जाने हेतु संयुक्त मजिस्ट्रेट, रुड़की जिला हरिद्वार को जांच अधिकारी नामित किया गया है तथा इस घटनाक्रम की तत्परता से तथ्यों एवं अभिलेखीय साक्ष्यों एवं मौके पर जिसने भी इस घटना को घटित होना देखा गया हो, के लिखित एवं मौखिक बयान अंकित करते हुए विस्तृत एवं सुस्पष्ट जांच करते हुए अपनी मजिस्ट्रीयल जांच रिपोर्ट 15 दिन के अन्दर अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराने के निर्देश संयुक्त मजिस्ट्रेट को दिये गये हैं।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंड क्राइमः देर रात चली ताबड़तोड़ गोलियां, एक की मौत तीन गंभीर घायल। क्षेत्र में तनाव का माहौल..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X