हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

ये 11 हैं दिल की बीमारी के संकेत, बिल्कुल न करें नजरअंदाज। महीनों पहले दिखते हैं ये लक्षण..

0

हृदय हमारे शरीर का एक अहम अंग होता है। जब हृदय स्वस्थ रहता है, तो हम भी लंबे समय तक स्वस्थ रहते हैं। लेकिन हृदय के साथ थोड़ी सी भी गड़बड़ी हमारे पूरे स्वास्थ्य को प्रभावित कर देता है। जब हमारा हृदय अस्वस्थ होता है, तो ऐसे कुछ लक्षण नजर आते हैं जो सामान्य नहीं होते हैं। इस दौरान व्यक्ति को सीने में दर्द, थकान और पसीना आना जैसे लक्षण नजर आ सकते हैं।

चलिए जानते हैं अस्वस्थ हृदय के कुछ लक्षण
1- सीने में बेचैनी- सीने में दर्द या बेचैनी दिल की बीमारी का सबसे आम लक्षण होता है। छाती में दर्द, जकड़न और दबाव महसूस होना दिल के दौरे के लक्षण हो सकते हैं। लेकिन इस बात का भी ध्यान रखें कि बिना सीने में दर्द के भी दिल का दौरा पड़ सकता है।
2- थकान, अपच और पेट दर्द- दिल के बीमार होने पर आपको थकान महसूस हो सकती है। इस दौरान व्यक्ति को मतली, अपच और पेट दर्द की शिकायत भी हो सकती है। इतना ही नहीं इस समय उल्टी की समस्या भी हो सकती है। वैसे तो इनका दिल से कोई संबंध नहीं लगता है, लेकिन हार्ट अटैक के दौरान ऐसा हो सकता है। इसलिए आपको इन लक्षणों को भी सामान्य समझकर नजरअंदाज नहीं करने चाहिए।

3- बांह में दर्द का फैलना- शरीर के बाईं तरफ दर्द होना भी हृदय अस्वस्थ होने का लक्षण हो सकता है। इस स्थिति में दर्द छाती से शुरू होता है, नीचे की तरफ दर्द बढ़ता है। कुछ लोगों को यह दर्द बांह तक भी फैलता है। यह भी अस्वस्थ हृदय का संकेत होता है।
4- चक्कर आना- वैसे तो डिहाइड्रेशन की वजह से भी चक्कर आ जाते हैं। लेकिन यह अस्वस्थ हृदय का भी लक्षण हो सकता है। अगर आपको अचानक से चक्कर आते हैं, सांस लेने में तकलीफ होती है तो तुरंत डॉक्टर से कंसल्ट करें। क्योंकि आपको लो ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है। इस स्थिति में हमारा हृदय उस तरह से पंप करने में सक्षम नहीं होता है, जिस तरह से इसे करना चाहिए।

5- गले या जबड़े में दर्द- वैसे तो गले या जबड़े में दर्द दिल से संबंधित नहीं है। यह सर्दी या साइनस की वजह से होता है। लेकिन कई बार सीने में दर्द या दबाव के कारण भी दर्द गले या जबड़े तक फैलता है, यह हार्ट अटैक का संकेत हो सकता है।
6- बहुत जल्दी थक जाना- अगर आप सीढ़ियां चढ़ने, चलने-फिरने या थोड़ा सा काम करने के बाद थक जाते हैं, तो आपको डॉक्टर से मिलने की जरूरत है। अत्यधिक थकावट, कमजोरी हृदय रोग का लक्षण हो सकता है, खासकर महिलाओं में। इसलिए अगर आप जल्दी थक जाती हैं, तो डॉक्टर से जरूर मिलें।

7- खर्राटे लेना- सोते समय थोड़ा खर्राटे लेना सामान्य है। लेकिन असामान्य रूप से जोर से खर्राटे लेना जो हांफने या घुटन की तरह लगता है, स्लीप एपनिया का संकेत हो सकता है। वह तब होता है जब आप रात में सोते समय कई बार संक्षिप्त क्षणों के लिए सांस लेना बंद कर देते हैं। यह दिल पर अतिरिक्त दबाव डालता है। इसलिए आपको इस लक्षण को भी हल्के में नहीं लेना चाहिए।
8- पसीना आना- बिना किसी काम, वर्कआउट के बहुत ज्यादा पसीना आना दिल की बीमारी का संकेत हो सकता है। दरअसल, जब हृदय रक्त को सही तरह से पंप करने में असमर्थ होता है तो पसीना आने लगता है। यह लक्षण दिखे तो तुरंत डॉक्टर से मिलें।

9- लंबे समय से खांसी होना- अगर आपको लंबे समय से खांसी है, जो सफेद या गुलाबी बलगम पैदा करती है, तो यह दिल की विफलता का संकेत हो सकता है। ऐसा तब होता है, जब हृदय शरीर की मांगों को पूरा नहीं कर पाता है। जिससे रक्त फेफड़ों में वापस रिसने लगता है। 
10- सूजन- अगर आपके पैर और टखनों में सूजन है, तो यह भी हृदय अस्वस्थ का लक्षण होता है। यह इस बात का संकेत है कि आपका हृदय रक्त को प्रभावी ढंग से पंप नहीं कर पा रहा है। दरअसल, जब हृदय तेजी से पंप नहीं कर पाता है, तो रक्त नसों में वापस आ जाता है और सूजन का कारण बनता है। इसलिए अगर आपको पैरों में सूजन हो, तो इस नजरअंदाज न करें।

11- दिल की अनियमित धड़कन- जब आप नर्वस या उत्साहित होते हैं, तो हार्ट बीट का तेज होना सामान्य है। लेकिन अगर आपको अक्सर ही ऐसा महसूस होता है, तो डॉक्टर से जरूर मिलें। दिल का अधिक बार धड़कना भी हृदय रोग का संकेत हो सकता है।
Disclaimer: अगर आपको भी इनमें से कोई लक्षण नजर आए, तो इसे बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें। यह अनहेल्दी हार्ट के लक्षण होते हैं, इस स्थिति में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। 

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X