हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

देखें वीडियोंः 40 घंटे बाद भी हवा में फंसी कई जिंदगियां, रेस्क्यू कार्य जारी। 3 की मौत..

Hillvani-Ropeway-Accident-Jharkhand

Hillvani-Ropeway-Accident-Jharkhand

झारखंड के देवघर में त्रिकूट पर्वत रोप वे हादसे का आज तीसरा दिन है। बताया जा रहा है कि, 2500 फीट की ऊंचाई पर अभी भी तीन ट्रालियां फंसी हुई हैं। इन ट्रालियों तक सेना के जवान पहुंच गए हैं और लोगों को निकाले जाने का काम जारी है। जानकारी के मुताबिक, आज अभी तक छह और लोगों को निकाल लिया गया है। हालांकि आठ से दस लोग अभी भी ऊपर फंसे हुए हैं।

आज दोपहर तक पूरा हो सकता है बचाव अभियान
देवघर रोपवे हादसे में बचाव अभियान के इंचार्ज अश्विनी नायर ने बताया कि हम लगातार बचाव अभियान चला रहे हैं। अब कुछ ही लोग ऊपर रह गए हैं। उन्होंने बताया कि, उम्मीद है कि दोपहर तक सभी लोगों को सुरक्षित निकाल लिया जाएगा।

यह भी पढ़ेंः JOB: एयर इंडिया AIASL के तहत निकाली बंपर भर्तियां। जल्द करें आवेदन…

कल 33 लोगों की बचाई थी जान
सेना, वायु सेना, आईटीबीपी, एनडीआरएफ के द्वारा चलाए जा रहे संयुक्त अभियान में सोमवार को करीब 33 लोगों को बचाया जा सका था। इसे रेस्क्यू ऑपरेशन में सेना के दो हेलीकॉप्टर लगाए गए हैं। हालांकि, सोमवार देर रात अंधेरा होने के कारण अभियान रोक दिया गया था। इस कारण लोगों के पास खाने-पानी का सामान पहुंचाना भी मुश्किल हो गया था, जिसके चलते ऊपर फंसे लोग रातभर भूखे-प्यासे ही रहे। पहाड़ी पर फंसे लोगों में महिलाएं व छोटे बच्चे भी हैं।

तीन लोगों की हो चुकी है मौत
रेस्क्यू ऑपरेशन में अब तक तीन लोगों की मौत हो चुकी है। देवघर प्रशासन ने सोमवार को एक महिला की मौत की पुष्ट की थी। वहीं शाम को हेलीकॉप्टर से फिसल जाने के कारण एक व्यक्ति डेढ़ हजार फीट नीचे खाईं में गिर गया था। इसके अलावा भी एक ओर मौत की बात सामने आ रही है। हालांकि, प्रशासन की ओर से इसकी पुष्टि नहीं की गई है। हादसे में 12 लोग घायल हैं।

यह भी पढ़ेंः हादसा: मैक्स दुर्घटना में 2 महिलाओं समेत 3 की मौत, अन्य घायल। दो गंभीर घायल हायर सेंटर रेफर..

रोप-वे एक्सीडेंट के बाद हरकत में सरकार
रोप-वे एक्सीडेंट के बाद झारखंड सरकार भी हरकत में आई है। सरकार के पर्यटन मंत्री का कहना है कि रोप-वे चलाने वाली एजेंसी को ब्लैक लिस्टेड किया जाएगा। साथ ही इस हादसे की पूरी जांच करवाई जाएगी और दोषियों को सख्त से सख्त सजा दी जाएगी। अभी तक 33 लोगों को रेस्क्यू किया जा चुका हैं। इस हादसे में अब तक 3 लोगों की मौत हो चुकी है।

वायु सेना चला रही रेस्क्यू ऑपरेशन
हादसे के बाद लोकल पुलिस व एनडीआरएफ ने रेस्क्यू ऑपारेशन शुरू किया। हालांकि, बाद में लोगों की मदद के लिए सेना को बुलाना पड़ा। इंडियन एयरफोर्स का कहना है कि, रोपवे हादसे में दो एमआई-17 हेलीकॉप्टरों को लगाया गया है। लोग अभी ऊपर ही फंसे हुए हैं, जिन्हें निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है।

यह भी पढ़ेंः गढ़वाल की अनदेखीः उत्तराखंड कांग्रेस के 70 से ज्यादा नेताओं ने दिया इस्तीफा, पार्टी की गुटबाजी आई सामने..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X