हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

सवाल: क्या एयर एम्बुलेंस सेवा नेताओं के लिए है? या नेता कर रहे हैं एम्बुलेंस का दुरुपयोग..

उत्तराखंड: कुछ दिनों पहले हुई बारिश से प्रदेश में भारी नुकसान हुआ है। जिसमें प्रदेश के कई लोगों ने अपनी जान गंवाई। अभी भी कहीं जगह पर प्रशासन द्वारा राहत बचाव कार्य चल रहा है। आपदा ग्रसित क्षेत्रों में कई जगह अभी भी सड़क से कनेक्टिविटी टूटी हुई है। विभागों द्वारा लगातार सड़कों को खोलने का काम भी जारी है और आपदा में लापता हुए लोगों की खोजबीन भी लगातार जारी है। सड़क मार्ग की कनेक्टिविटी सुचारू नहीं होने के चलते सरकार ने देवी आपदा के दौरान पीड़ितों की मदद के लिए एयर एंबुलेंस चलाई है।

यह भी पढ़ें: मौसम अपडेट: इन जिलों में है बारिश के संभावना, वहीं उच्च क्षेत्रों में बर्फबारी के आसार..

दो एयर एम्बुलेंस पिथौरागढ़ और हल्द्वानी में तैनात किए गए हैं। पीड़ितों के मदद में लगे यह हेलीकॉप्टर अब विधायक और नेताओं को ढोने के काम में भी आ रही है। बीते दिन यानी शनिवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के चंपावत के दौरे के दौरान सड़क बंद होने से टनकपुर में फंसे विधायक सहित अन्य भाजपा नेताओं को एयर एंबुलेंस के माध्यम से चंपावत पहुंचाया गया। सबसे बड़ी बात यह है कि यह एयर एम्बुलेंस चौड़ामेहता( रीठा साहिब) में एक गंभीर रूप से प्रसव पीड़ा झेल रही एक गर्भवती को लेने आया था। लेकिन प्रसव वेदना झेल रही गर्भवती से पहले प्रदेश के नेताओं का सुविधाओं का ध्यान रखा जा रहा है।

यह भी पढ़ें: Health Tips: फिट रहना चाहते हैं तो जानें किन चीजों को खाली पेट खाएं और किसे नहीं?

एयर एंबुलेंस के रूप में प्रयुक्त हेलीकॉप्टर में विधायक कैलाश गहतोड़ी उनके पीआरओ पंकज आर्य, पूर्व दर्जा राज्यमंत्री शिवराज कठायत और पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष ललित मोहन पांडे सर्किट हाउस के हेलीपैड पर उतरे। इन नेताओं को छोड़ने के बाद एयर एंबुलेंस गर्भवती महिला को एयर लिफ्ट करने के लिए फिर रीठासाहिब रवाना हुआ। आपदा पीड़ित और गंभीर गर्भवती महिला की सेवा में लगे हेलीकॉप्टर से नेता पहले सुविधा का लाभ ले रहे हैं। जिसके बाद हेलीकॉप्टर से नेताओं के आने जाने पर कांग्रेस नेताओं ने कई गंभीर सवाल उठाए हैं।

यह भी पढ़ें: करवा चौथ 2021:रोहिणी नक्षत्र में होंगे चांद के दीदार, जानिए पूजा का शुभ मुहूर्त..

जिस तरीके से नेता इन एयर एंबुलेंस का प्रयोग कर रहे हैं यह कहीं ना कहीं बहुत बड़े सवाल खड़े करता है। एक तरफ जहां आपदा पीड़ितों को राहत बचाव के लिए यह एयर एंबुलेंस की व्यवस्था की गई है तो दूसरी और हमारे माननीय नेता अपनी सहूलियत के लिए इनका प्रयोग कर रहे हैं। अब सबसे बड़ा सवाल यह भी बनता है कि क्या प्रदेश के युवा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी इसका संज्ञान लेते हुए इन एयर एंबुलेंस को सिर्फ जरूरतमंद लोगों के लिए ही रिजर्व रखेंगे या फिर माननीय नेता ऐसे ही इनका दुरुप्रयोग करते रहेंगे। यह तो आने वाला वक्त बताएगा। लेकिन जिस तरीके से नेता इन एयर एंबुलेंस का प्रयोग कर रहे हैं यह अपने आप में बहुत बड़े सवाल खड़े करता है।

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X