हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

मुख्यमंत्री धामी का जन्मदिन संकल्प दिवस के रूप में मनाया गया, गोष्ठी का हुआ आयोजन..

CM Dhami's birthday celebrated as Sankalp Diwas. Hillvani News

CM Dhami's birthday celebrated as Sankalp Diwas. Hillvani News

प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के जन्मदिन को संकल्प दिवस के रूप में धूम धाम से मनाया गया। इस अवसर पर केंद्र एवं राज्य सरकार की उपलब्धियों के संदर्भ में एक गोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का आयोजन जिला अध्यक्ष दिनेश उनियाल की अध्यक्षता में किया गया। जिसमें उपस्थित सभी पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने प्रदेश के मुख्यमंत्री के उत्तम स्वास्थ्य, दीर्घायु एवं यशस्वी कार्यकाल की शुभकामनाएं देते हुए बाबा श्री केदारनाथ जी से कामना की। कार्यक्रम में जिला अध्यक्ष दिनेश उनियाल, विधायक रुद्रप्रयाग भरत चौधरी, पूर्व जिलाध्यक्ष वाचस्पति सेमवाल, कार्यक्रम के जिला संयोजक त्रिलोक सिंह रावत ने अपने-अपने संबोधन में कहा कि मुख्यमंत्री धामी ने अब तक के अपने अल्प कार्यकाल में ताबड़तोड़ बड़े फैसले ले चुके हैं, जिनमें 10वीं से स्नात्तक के छात्रों को टेबलेट, नौंवी से 12वीं तक के छात्र-छात्राओं को मुफ्त किताबें, उत्तराखंड देव स्थानम बोर्ड को भंग करने, गेस्ट टीचरों, शिक्षा मित्रों व इंटर्न डाक्टरों का मानदेय बढाने के साथ ही सैन्य धाम, भ्रष्टाचार मुक्त ऐप-1064, सीएम वात्सलय योजना, महालक्ष्मी योजना, वृद्धावस्था पेंशन में बढ़ोतरी, गरीब परिवारों को तीन मुफ्त सिलेंडर, बेहतर हवाई कनेक्टिविटी, कोरोना काल के दौरान विभिन क्षेत्रों को प्रोत्साहन राशि प्रदान करना, प्रदेश स्तर के विभिन्न पुरस्कारों में धन राशि की बढ़ोतरी, स्वरोजगार कैंपों के माध्यम से प्रदेश के युवाओं के लिए रोजगार सुनिश्चित करना आदि प्रमुख फैसले हैं। इसके अलावा प्रदेश में भ्रष्टाचार और नकल माफियाओं के खिलाफ भी मुख्यमंत्री ने फैसले लेते हुए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की व प्रदेश में लंबे समय से चली आ रही समान नागरिक संहिता और भू-कानून की मांग को प्रदेश हित में लागू करने के लिए पूरी प्रतिबद्धता दिखाई।

यह भी पढ़ेंः ध्यान देंः UPI पेमेंट करते समय इन बातों को लेकर रहें सतर्क, वरना हो सकता है भारी नुकसान।

आत्मविश्वास से लबरेज धामी अपने संकल्प के साथ आगे बढ़ रहे हैं। वर्ष 2025 तक उत्तराखण्ड को देश का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाना ही उनका एकमात्र लक्ष्य है। वो जानते हैं कि जनसहभागिता से ही यह लक्ष्य हासिल किया जा सकता है। हर हाल में उन्हें देवतुल्य जनता की आशाओं और आकांक्षाओं को पूर्ण करना है। जनता को सुशासन और पारदर्शी प्रशासन मिले इसके लिए उन्होंने नौकरशाहों को सरलीकरण, समाधान, निस्तारीकरण और सन्तुष्टि का मंत्र दिया है। संदेश साफ है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, सबका प्रयास सूत्रवाक्य को आत्मसात कर राज्य के अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति तक विकास पहुंचाना है। प्रदेश में सुदृढ़ वित्तीय अनुशासन एवं राजकोषीय प्रबंधन के लिए उन्होंने ठोस प्रयास शुरू कर दिए हैं। जरूरतमंदों की सेवा के साथ ही प्रदेश समृद्धि की ओर अग्रसर है। पर्यटन क्षेत्र में तीव्र विकास से समृद्ध उत्तराखण्ड का सपना संजोया गया है, जिसका रोडमैप तैयार है। शिक्षा को गुणवत्तापरक और कौशल विकास को रोजगारपरक बनाने की पहल शुरू हो चुकी है। निर्बल वर्गों का सशक्तीकरण करते हुए उनमें सामाजिक सुरक्षा का भाव जागृत किया जा रहा है। इतना ही नहीं स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देकर आत्मनिर्भरता उत्तराखण्ड की नींव रखी जा चुकी है। सधे और संतुलित कदमों के साथ धामी निरन्तर अपने लक्ष्य की ओर आगे बढ़ रहे हैं। कार्यक्रम में जिला महामंत्री अनूप सेमवाल, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य महावीर पवार, जिला पंचायत सदस्य भारत भूषण भट्ट, भाजपा के वरिष्ठ अजय सेमवाल, दरमियान जख्वाल, भूपेंद्र भंडारी, सुनिल नौटियाल, दीपराज बंगारी, शालिनी गोस्वामी, पार्वती गोस्वामी, मंडल अध्यक्ष सुरेंद्र रावत, सुरेन्द्र जोशी, कुलबीर रावत, मेहरबान सिंह रावत, जेपी सकलानी, बृज मोहन सिंह नेगी आदि वरिष्ठ पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन कार्यक्रम के जिला सह संयोजक चरण सिंह राणा ने किया।

यह भी पढ़ेंः नैनी झील पर गंभीर संकट! इतिहास में पहली बार सितंबर में न्यूनतम स्तर पर पहुंचा जलस्तर..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X