हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

उत्तराखंडः कब खुलेंगे धामों के कपाट, इसबार चारधाम यात्रा से उम्मीद बड़ी…

Hillvani-CharDham-Yatra-Uttarakhand

Hillvani-CharDham-Yatra-Uttarakhand

उत्तराखंडः चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड भंग होने के बाद इस बार चारधाम बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री में मंदिरों की प्रबंधन व्यवस्था बदले स्वरूप में रहेगी। बदरीनाथ व केदारनाथ की व्यवस्था का जिम्मा बदरी-केदार मंदिर समिति और गंगोत्री व यमुनोत्री धामों की व्यवस्था उनकी अपनी-अपनी मंदिर समितियां संभाल रही हैं। चारधाम समेत कुल 51 मंदिरों को देवस्थानम प्रबंधन अधिनियम के तहत गठित देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के दायरे में लाया गया था। बोर्ड का चारधाम के तीर्थ पुरोहित लगातार विरोध करते आ रहे थे।

इस पर सरकार ने पिछले वर्ष देवस्थानम प्रबंधन अधिनियम को वापस लेते हुए बोर्ड को भंग करने का निर्णय लिया। 17 दिसंबर अधिनियम व बोर्ड को निरस्त कर दिया गया था। इसके साथ ही इस साल की शुरुआत में बदरीनाथ व केदारनाथ मंदिरों की व्यवस्था के लिए पूर्व की भांति बदरी-केदार मंदिर समिति गठित कर दी गई। इस बार से वही दोनों मंदिरों की व्यवस्थाएं देखेगी। इसी तरह गंगोत्री व यमुनोत्री मंदिरों की व्यवस्था के लिए उनकी अपनी-अपनी समितियों को बहाल कर दिया गया।

यह भी पढ़ेंः मासूम बेटे लेकर पिता ने गंगा में उतारी कार, डूबने की आशंका। तलाश जारी..

छह मई को खुलेंगे बाबा केदार के कपाट
उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जनपद में स्थित केदारनाथ धाम के कपाट छह मई को सुबह 6:25 बजे श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे। महाशिवरात्रि पर ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में कपाट खोलने की तिथि एवं मुहूर्त तय किए गए। इसी के साथ चारों धाम के कपाट खुलने की तिथि तय हो गई हैं।

आठ मई को खुलेंगे बद्रीनाथ धाम के कपाट
देश के चार प्रमुख धामों में से बद्रीनाथ धाम के कपाट खोलने के तारीखों का भी ऐलान कर दिया गया है। राजपुरोहित कपाट खुलने की तारीख को लेकर राज परिवार और मंदिर समिति के पदाधिकारियों से चर्चा करने के बाद बद्रीनाथ धाम मंदिर कपाट को 8 मई से सुबह 6:15 मिनट से खोलने का फैसला किया है। वहीं गाडू घड़ा (तेलकलश यात्रा) की तिथि 22 अप्रैल शुक्रवार से शुरू होगी। हर साल की तरह भगवान बद्रीनाथ धाम के कपाट खुलने की तारीख आज बसंत पंचमी को नरेंद्रनगर स्थित राजदरबार में तय की जाती है।

यह भी पढ़ेंः ब्रेन में ट्यूमर होने के 9 बड़े संकेत, सतर्क रहें। अनदेखी पड़ सकती है भारी..

तीन मई को खुलेंगे गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट
गंगोत्री धाम के कपाट भी हर साल अक्षय तृतीया के दिन खोले जाते हैं। इस साल गंगोत्री धाम के कपाट 3 मई को खोले जाएंगे। गंगोत्री धाम के कपाट दिवाली के दिन बंद होते हैं। वहीं यमुनोत्री धाम के भी कपाट हर साल अक्षय तृतीया के दिन खोले जाते हैं। यमुनोत्री धाम के कपाट भाई दूज के दिन बंद होते हैं।

इस बार चारधाम यात्रा से बड़ी उम्मीद
कोरोना संक्रमण थमने के बाद इस बार चारधाम यात्रा में भारी संख्या में तीर्थ यात्रियों के पहुंचने की उम्मीद है। जाहिर है कि ऐसे में बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री धाम में तीर्थ यात्रियों की भीड़ को नियंत्रित करने, ठहरने, स्वास्थ्य सेवाएं, बिजली, पानी की व्यवस्था करने में सरकार की परीक्षा होगी। तीन मई को अक्षय तृतीया के दिन गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ ही चारधाम यात्रा का आगाज हो जाएगा। छह मई को केदारनाथ धाम और आठ मई को बदरीनाथ धाम के कपाट विधि विधान से खुल जाएंगे। पिछले दो साल से कोविड महामारी के कारण चारधाम यात्रा का संचालन प्रभावित रहा, लेकिन इस बार तीर्थ यात्रियों के काफी संख्या में पहुंचने की संभावना है। एक माह पहले से होटलों की बुकिंग शुरू हो गई है।

यह भी पढ़ेंः लक्ष्मण झूला पुल की तार टूटने से मचा हड़कंप, आवाजाही हुई बंद। देखें वीडियो.

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X