हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

बड़ी खबर: क्या उत्तराखंड टीईटी परीक्षा में भी लगी सेंध? यहां भी शामिल हुए थे क्या सॉल्वर..

उत्तरप्रदेश: एक बड़ी खबर सामने आ रही है कि 26 नवंबर को हुई उत्तराखंड शिक्षक पात्रता परीक्षा में भी सॉल्वर शामिल हुए थे। मीडिया जानकारी के मुताबिक उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा में सेंध लगाने वाले सॉल्वर उत्तराखंड टीईटी में भी शामिल हुए थे। यह सच्चाई अयोध्या में गिरफ्तार किए गए सॉल्वर रमेश कुमार ने एसटीएफ को उपलब्ध कराई है। रमेश के पास से उत्तराखंड विद्यालय शिक्षा परिषद रामनगर नैनीताल वर्ष 2021 का प्रवेश पत्र भी बरामद हुआ है। रमेश के मोबाइल की गैलरी में मिला प्रवेश पत्र पप्पू आर्या के नाम है, जिस पर रमेश कुमार की फोटो लगाई गई है। जांच से जुड़े एक अधिकारी की मानें तो एसटीएफ की ओर से दर्ज कराई गई प्राथमिकी में इसका स्पष्ट उल्लेख किया गया है कि गत 26 नवंबर को उत्तराखंड में हुई टीईटी परीक्षा में रमेश कुमार पप्पू आर्या की जगह परीक्षा दे रहा था।

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर: प्रशासनिक फेरबदल, कई IAS PCS अफसरों के कार्यभार में हुआ बदलाव। देखें लिस्ट..

यह जानकारी चौंकाने वाली है, जिस पर गंभीरता से हुई जांच बड़ा पर्दाफाश कर सकती है। रमेश के पास से मिले प्रवेश पत्र व अन्य साक्ष्यों को एसटीएफ ने कोतवाली नगर पुलिस के हवाले कर दिया गया है। रमेश कुमार का बयान सच है तो उत्तराखंड टीईटी की भी परीक्षा पर सवाल खड़ा हो गए हैं। एएसपी पलाश बंसल का कहना है कि एसटीएफ की ओर से दर्ज कराई गई प्राथमिकी व उपलब्ध कराए गए साक्ष्यों के आधार पर जांच को आगे बढ़ाया जा रहा है। उत्तराखंड परीक्षा को लेकर अभियुक्त की ओर से दी गई जानकारी पर भी जांच कराई जाएगी।

यह भी पढ़ें: गाइडलाइन: कोरोना ओमिक्रॉन को लेकर आज से प्रतिबंध लागू, पढ़ें दिशानिर्देश..

आपको बता दें कि अयोध्या जिले के पांच परीक्षा केंद्रों पर सॉल्वर परीक्षा दे रहे थे, जिसमें एक गुरुनानक कॉलेज भी है, जहां से एसटीएफ ने सॉल्वर संदीप वर्मा को गिरफ्तार किया था। संदीप यहां उमानंद के स्थान पर परीक्षा दे रहा था। संदीप को गिरफ्तार करने के बाद एसटीएफ ने कॉलेज के बाहर मौजूद उमानंद को भी गिरफ्तार करने का प्रयास किया, लेकिन कार्रवाई की भनक लगते ही वह रफूचक्कर हो गया। इसी तरह अन्य चार केंद्रों पर रंजीत कुमार की जगह अमन सि‍ंह, अंकित कुमार की जगह धर्मदास, अनूप की जगह संतोष तिवारी व प्रबल सि‍ंह चौहान के स्थान पर अजीत वर्मा सॉल्वर थे।

यह भी पढ़ें: Viral: JCB में कर रहे थे ग्रैंड एंट्री, दूल्हा-दुल्हन की किस्मत निकली खराब गिरे औंधे मुंह। देखिए VIDEO..

इन लोगों तक एसटीएफ पहुंचती इससे पहले टीईटी रद होने की अधिकृत सूचना परीक्षा केंद्रों पर पहुंच गई और अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्रों से मुक्त कर दिया गया। जिसके बाद निराशा और आक्रोश के बीच केंद्र से निकले परीक्षार्थियों की भीड़ में सॉल्वर भी केंद्र से निकल गए। शिक्षक पात्रता परीक्षा में अयोध्या आए सॉल्वर संदीप वर्मा और महेश के संपर्क में थे। संदीप सहित उसके सहयोगी रमेश और महेश को गिरफ्तारी के बाद पुलिस के लिए अब नामजद 17 अभियुक्तों तक पहुंचना चुनौती बना हुआ है। अभियुक्तों के पास मिले फर्जी आधार कार्ड व मतदाता पहचान पत्र यह संकेत देते हैं कि इस गिरोह की साठगांठ साइबर अपराधियों से भी है।

यह भी पढ़ें: मौसम: 5 जिलों में बारिश बर्फबारी का अलर्ट, अब कड़ाके की ठंड का दौर होगा शुरू..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X