हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

शुक्र का मीन राशि में गोचर, 12 राशियों पर होगा असर। देखें आपकी राशि पर कैसा रहेगा प्रभाव..

शुक्र आज कुंभ राशि से निकलकर मीन राशि में गोचर करने वाले हैं और इस राशि में पहले से ही देवगुरु बृहस्पति मौजूद है। इस तरह एक राशि में दो ग्रहों का संयोग बनने जा रहा है। गुरु और शुक्र दोनों ही शुभ ग्रह हैं लेकिन इनके बीच शत्रु भाव है। वैदिक ज्योति में शुक्र को भोग विलास, सुख-सुविधाओं और आनंद का कारक ग्रह माना गया है। शुक्र जब गोचर करते हैं तो उसका प्रभाव सभी राशियों पर पड़ता है। कुछ राशियों के जीवन में इसका शुभ प्रभाव पड़ेगा तो कुछ राशियों को जीवन में उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है। आइए जानते हैं शुक्र का मीन राशि में गोचर पर सभी राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा…

मेष राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव
शुक्र आपकी राशि से 12वें भाव में गोचर करने वाला है। इस दौरान आपके अपने खर्चों पर नियंत्रण रखना होगा और भविष्य की योजनाओं पर काम करना होगा। नौकरी पेशा व व्यापारियों के लिए शुक्र का गोचर काफी फायदेमंद वाला रहेगा। इस दौरान आमदनी में वृद्धि और प्रमोशन के योग बन रहे हैं। साथ ही व्यापारियों को विदेश से जुड़ा कोई अच्छा अवसर मिल सकता है। जीवनसाथी के साथ अच्छा समय व्यतीत करेंगे और उनकी भावनाओं को सम्मान देंगे।

वृषभ राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव
शुक्र आपकी राशि से 11वें स्थान पर गोचर करने वाले हैं। इस दौरान आपकी कार्यक्षेत्र से जुड़ी इच्छाएं पूरी होंगी और लक्ष्यों को पूरा करने में सफल होंगे। आर्थिक स्थिति अनुकूल रहेगी और सुख-सुविधाओं पर अच्छा खर्च भी करेंगे। नौकरी पेशा जातकों की वेतनवृद्धि होगी और कारोबारियों को भी अच्छा मुनाफा मिलने के योग बन रहे हैं। अगर किसी बीमारी से पीड़ित हैं तो गोचर काल में आपकी सेहत में सुधार आ सकता है।

मिथुन राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव
शुक्र आपकी राशि से 10वें स्थान पर गोचर करने वाले हैं। इस दौरान करियर और सम्मान में इजाफा होगा और तरक्की के नए अवसर भी मिलेंगे। अगर आप किसी विदेशी संस्था से जुड़े हुए हैं तो अच्छा लाभ सुनिश्चित करेंगे। नौकरी पेशा जातकों को अधिकारियों से सराहना मिलेगी और कार्यक्षेत्र में भी अच्छा प्रदर्शन भी करेंगे। आर्थिक जीवन की बात करें तो अच्छा धन लाभ होने के योग बन रहे हैं। वैवाहिक जीवन की बात करें तो जीवनसाथी के साथ कहीं बाहर जाने की योजना बना सकते हैं।

कर्क राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव
शुक्र आपकी राशि से नवम स्थान पर गोचर करने वाले हैं। इस दौरान आपकी रचनात्मक क्षमता में वृद्धि होगी और किताबों में आपका मन लगेगा। अगर आप कोई संपत्ति खरीदने की योजना बना रहे हैं तो समय अनुकूल है। पिता या गुरु का साथ मिलने से सही मार्गदर्शन मिलेगा। गोचर काल में परिवार के साथ कहीं बाहर घूमने का प्लान बना सकते हैं। लव पार्टनर के लिए समय काफी अनुकूल रहेगा और समझ व संबंध बेहतर होते जाएंगे।

सिंह राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव
शुक्र आपकी राशि से आठवें स्थान पर गोचर करने वाले हैं। इस दौरान कार्यक्षेत्र में कुछ उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही आपके कुछ सरकारी कार्य भी अटक सकते हैं। करियर में सफलता के लिए शुरू से ही सतर्क और जिम्मेदार रहेंगे तो कामयाबी मिल सकती है। गोचर काल के समय आपके खर्चों में वृद्धि हो सकती है इसलिए बिना वजह के आर्थिक कार्यों से दूरी बनाकर रखें। हालांकि ससुराल पक्ष से लाभ होने के योग बन रहे हैं।

कन्या राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव
शुक्र आपकी राशि से सातवें भाव में गोचर करने वाले हैं। इस दौरान साझेदारी में व्यापार करने वालों को अच्छा लाभ होगा और व्यापार विस्तार की भी योजना बनाएंगे। इस समय व्यापारिक यात्राएं भी अच्छा लाभ देंगी और प्रसिद्धि मिलने के भी योग बन रहे हैं। अगर आप किसी चीज में निवेश की योजना बना रहे हैं तो आपको शुभ परिणाम प्राप्त होंगे। वैवाहिक जीवन में चल रही गलतफहमियां और विवाद दूर होंगे।

तुला राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव
शुक्र आपकी राशि से छठवें स्थान पर गोचर करने वाले हैं। इस दौरान दैनिक व्यापारियों को लाभ प्राप्ति के लिए अधिक मेहनत करनी होगी क्योंकि इच्छा अनुसार फल प्राप्त होना आसान नहीं होगा। किसी भी योजना पर काम करने के लिए गोचर काल में आपको पूरी कला व कौशल का इस्तेमाल करना होगा। गोचर काल में लड़ाई-झगड़ा से दूर रहना आपके लिए हितकर रहेगा अन्यथा आपके जीवन में कई तरह की बाधाएं उपस्थित हो सकती हैं।

वृश्चिक राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव
शुक्र आपकी राशि से पांचवें स्थान पर गोचर करने वाले हैं। इस दौरान शिक्षा से जुड़े जातकों की हर इच्छा पूरी होगी और जो छात्र विदेश में जाकर पढ़ाई की इच्छा रखते हैं तो उनके लिए समय बेहद अनुकूल रहने वाला है। नौकरी पेशा जातक सहकर्मियों के साथ किसी भी तरह के विवाद से दूर रहें और अपना ध्यान काम पर लगाएं क्योंकि यह समय आपके सफलता दे सकता है। आर्थिक जीवन की बात करें तो यह समय आपके लिए सामान्य रहेगा। गोचर काल में जुए व सट्टे जैसे अनैतिक कार्यों से दूरी बनाकर रखें।

धनु राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव
शुक्र आपकी राशि से चौथे भाव में गोचर करने वाला है। इस दौरान आप करियर में चल रही तरक्की का आनंद उठाएंगे और कार्यस्थल पर बेहतर परिणाम से मानसिक शांति भी मिलेगी। गोचर काल में आपकी सुख-सुविधाओं में इजाफा होगा और भौतिक चीजों को खरीदने पर जो रहेगा। अगर आप अपने घर का नवीनीकरण करवाने का प्लान बना रहे हैं तो समय शुभ रहेगा। साथ ही परिवार व दोस्तों के साथ अच्छा समय व्यतीत करेंगे।

मकर राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव
शुक्र आपकी राशि से तीसरे स्थान पर विराजमान होने वाले हैं। इस दौरान भाई-बहनों के साथ संबंध मधुर होंगे और उनकी जरूरतों को ध्यान में रखेंगे। कार्यस्थल पर सहयोगियों के साथ अच्छे संबंध बनेंगे और उनकी मदद से हर कार्य को पूरा करने में सफल होंगे, जिससे आपको भविष्य में अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे। गोचर काल में आपको भाग्य का पूरा साथ मिलेगा, जिससे आपकी आर्थिक स्थिति भी बेहतर रहेगी। अगर आप छुट्टी पर कहीं बाहर घूमने की योजना बना रहे हैं तो आपकी इच्छा पूरी होगी।

कुंभ राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव
शुक्र आपकी राशि से दूसरे स्थान पर गोचर करने वाले हैं। इस दौरान सुख और आराम की चीजों में इजाफा होगा और करियर के लिहाज से यह अवधि आपके लिए अनुकूल रहने वाली है। शुक्रदेव की मदद से आपको भाग्य का पूरा सहयोग मिलेगा और आपकी इच्छाएं भी पूरी होंगी। तरक्की के लिए निरंतर आप अपने लक्ष्यों की तरफ बढ़ते जाएंगे लेकिन खर्च भी बढ़ सकते हैं। अगर आप लंबी अवधि के लिए निवेश करेंगे तो अच्छा परिणाम प्राप्त होगा। लव पार्टनर के रोमांस व प्रेम वृद्धि होगी और किसी महिला सदस्य का भरपूर सहयोग मिलेगा।

मीन राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव
शुक्र आपकी लग्न भाव अर्थात पहले स्थान पर गोचर करने वाले हैं। इस दौरान आपको व्यापार में अच्छा लाभ अर्जित कर पाएंगे और व्यापार में विस्तार की योजनाओं पर भी काम करेंगे। शादीशुदा जातकों का रिश्ता अपने जीवनसाथी के साथ अधिक मजबूत होगा और किसी जरूरी विषय पर भी चर्चा करेंगे। गोचर काल में आपको अच्छा खान पान लेने और व्यायाम करने की सलाह दी जाती है। प्रेमी जातकों के लिए यह अवधि उत्तम रहेगी, ये अपने रिश्ते को अगले स्तर पर ले जा सकते हैं।

डिसक्लेमर: इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X