हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

सम्मान: आज उत्तराखंड की 3 विभूतियों को मिलेगा पद्म पुरस्कार, राष्ट्रपति कोविंद करेंगे सम्मानित..

देहरादून: वर्ष 2020 में कोरोना के चलते पद्म पुरस्कारों का वितरण नहीं किया जा सका था। इसलिए वर्ष 2021 में ही दोनों साल के पद्म विजेताओं को एक साथ सम्मानित किया जा रहा है। आज यानी सोमवार को नई दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद हैस्को प्रमुख पर्यावरणविद डॉ.अनिल प्रकाश जोशी को पद्मभूषण, जबकि पर्यावरणविद कल्याण सिंह और डॉ.योगी एरन को पद्श्री सम्मान देकर सम्मानित करेंगे। इसके अलावा मंगलवार को चिकित्सा क्षेत्र में डॉ.भूपेंद्र कुमार सिंह और किसान प्रेम चंद शर्मा को पद्श्री सम्मान देकर सम्मानित करेंगे।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: इस साल पड़ेगी कड़ाके की ठंड, वैज्ञानिकों की चेतावनी। पर्वतीय क्षेत्रों में असर दिखना शुरू..

आपको बता दें कि डॉ.योगी ऐरन अभिवाजित उत्तर प्रदेश के समय से दून अस्पताल समेत विभिन्न चिकित्सा संस्थानों में उत्कृठ स्वास्थ्य सेवायें दें चुके है। डॉ. योगी ऐरन न सिर्फ अनुभवी प्लास्टिक सर्जन है बल्कि पर्यावरण के ऐसे प्रेमी है की उन्होने अपने जीवन की अभी तक की पूरी पूंजी खुद के द्वारा तैयार किया हुआ वन “जंगल मंगल“को बनाने में लगा दिया। डॉ.योगी ऐरन द्वारा अभी तक कई सफल जटिल प्लास्टिक सर्जरी की जा चुकी है और अनगिनत जरूरतमंद व गरीब लोगों का उपचार भी वह निःशुल्क कर चुके है। चिकित्सा के क्षेत्र में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए भारत सरकार द्वारा उन्हें देश के सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार के लिए चुना गया है।

यह भी पढ़ें: मांग: पुरानी पेंशन बहाली के लिए कर्मचारी संगठन ने किया मुख्यमंत्री आवास कूच, पुलिस बल ने रोका..

वही मैती आंन्दोलन के जनक कल्याण सिंह रावत को समाजसेवा के क्षेत्र में उत्कृठ कार्य के लिए पदमश्री पुरस्कार के लिए नामित किया गया है। पर्यावरण संरक्षण में उल्लेखनीय योगदान व मैती आन्दोलन के जरिये 18 से अधिक राज्यों व कई देशों में पर्यावरण संरक्षण की अलख जगाने वाले कल्याण सिंह रावत मैती ने देश और दुनियां में उत्तराखंड का नाम रोशन किया है। पद्म भूषण पुरस्कार नवाजे जाने वाले पर्यावरणविद् डॉ. अनिल प्रकाश जोशी को समाजसेवा के क्षेत्र में पदमश्री के बाद पद्मभूषण सम्मान से नवाजा जायेगा। पुरस्कार वितरण समारोह आज प्रातःकाल 9 बजे नई दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन तय किया गया है।

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर: क्या आखिरी विधानसभा सत्र में होगा देवस्थानम बोर्ड पर फैसला?

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X