हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

उत्तराखंड चुनाव में होगा कड़ा मुकाबला, बीजेपी की राह नहीं होगी आसान। देखें ताजा सर्वे..

उत्तराखंड: उत्तराखंड सहित 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव को लेकर बिगुल फूंका जा चुका है। सभी दल अपनी-अपनी जीत के लिए कमर कस चुके हैं और चुनावी रणनीति बनाने में व्यस्त हो गए हैं। जीत की संभावना को देखते हुए नेता अपना दल बदलकर दूसरी पार्टी में जा रहे हैं। फिलहाल यहां पर हम बात करने जा रहे हैं उत्तराखंड विधानसभा चुनावों की। उत्तराखंड में इस बार कांटे की टक्कर होती दिखाई दे रही है। बीजेपी के सामने यहां पर कई दिक्कतें हैं। कुछ ही महीने पहले यहां पर तीन-तीन मुख्यमंत्रियों को बदलते भी देखा है। उत्तराखंड में लोगों की राय लेते हुए एक चुनावी सर्वे तैयार किया गया है। जी मीडिया के ओपिनियन पोल में बीजेपी और कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर देखी जा रही है। एक भी सीट अगर इधर से उधर हुई तो सरकार बन भी सकती है और नहीं भी। अब ये तो चुनाव के बाद नतीजे आने के बाद ही पता चल पाएगा कि कौन किस पर भारी पड़ेगा।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में कितने दलबदलू चुनाव से पहले हुए इधर से उधर..

कांटे की टक्कर होगी कांग्रेस-बीजेपी के बीच
उत्तराखंड में बीजेपी को 33 सीटें मिलती हुईं दिख रही हैं। वहीं कांग्रेस पूर्ण बहुमत के जादुई आंकड़े तक पहुंच रही है। यानी की कांग्रेस बीजेपी से 2 सीटें ज्यादा लाती हुई दिख रही है। यहां पर कांग्रेस 35 सीटें जीतती हुई नजर आ रही है। आप के लिए ये बुरी खबर है। आप पार्टी यहां पर महज एक सीट पर जीतती हुई नजर आ रही है। आप संयोजन अरविंद केजरीवाल उत्तराखंड में अपनी पूरी ताकत झोंक रहे हैं मगर यहां सीधी टक्कर बीजेपी और कांग्रेस के बीच में नजर आ रही है।

यह भी पढ़ें: गंगोत्री के अलावा इस सीट से भी जुड़ा है मिथक, जो जीता उसकी बनी सरकार..

कुमाऊं में बीजेपी चल रही पीछे
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भले ही कुमाऊं से आते हो मगर यहां पर बीजेपी को उनसे फायदा होता हुआ नहीं दिख रहा है। कुमाऊं की 29 सीटों पर वोट प्रतिशत के मामले में कांग्रेस 42% के साथ सबसे आगे है। इसके बाद भाजपा के खाते में 38%, आप के खाते में 10% और अन्य के खाते में 10% वोट शेयर आता दिखाई दे रहा है। अब बात कुमाऊं की करें तो यहां सर्वे में भाजपा को 9-11 (10) सीटें मिली सकती हैं। जबकि यहां कांग्रेस 18-20 (19) सीटों के साथ सबसे आगे है। वहीं आप और अन्य को 0-1 (0) सीट मिल सकती है।

यह भी पढ़ें: दल और सीट बदलनें के महारथी, पढ़ें हरक कथा..

गढ़वाल में बीजेपी निकली आगे
गढ़वाल रीज़न में बीजेपी की हमेशा से ही अच्छी पकड़ रही है। अभी भी इन पकड़ का असर दिख रहा है जिसकी बदौलत गढ़वाल में बीजेपी के खाते में 22-24 (23) सीटें आ सकती हैं। कांग्रेस यहां बीजेपी से पीछे है, कांग्रेस को 15-17 (16) सीटें मिलती दिख रही हैं। आप और अन्य को एक-एक सीट मिल सकती है। वहीं बात करें प्रतिशत की तो गढ़वाल रीजन की 41 सीटों पर भाजपा के हिस्से में 43% तो कांग्रेस के खाते में 38% प्रतिशत वोट शेयर रहा। वहीं आम आदमी पार्टी का वोट शेयर 14% और अन्य दलों के खाते में 5% प्रतिशत वोट शेयर आए हैं। पूरे राज्य की बात करें तो भाजपा को 31-35 (33) सीट, कांग्रेस को 33-37 (35), आप को 0-2 (1) और अन्य को 0-1 (1) सीट मिल सकती है।
नोट- यह सर्वे जी मीडिया द्वारा किया गया है।

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X