हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

उत्तराखंड : हिट-एंड-रन कानून के खिलाफ ट्रक और टैक्सी ड्राइवरों का हड़ताल जारी, उग्र आंदोलन की दी चेतावनी..

0
Strike in protest against the hit-and-run law

Strike in protest against the hit-and-run law : हिट-एंड-रन कानून विरोध में देशभर में ट्रक ड्राइवर और टैक्सी चालक हड़ताल पर चले गए हैं। केंद्र सरकार द्वारा हिट एंड रन कानून में बदलाव के विरोध में मंगलवार को भी वाहन चालक हड़ताल पर रहे। जिसका नतीजा देहरादून आईएसबीटी और शहर भर में भी देखने को मिला जहां हर तरफ लोग पैदल ही सामान के साथ आवागमन करने पर मजबूर दिखाई दिए। वहीं कुछ रोडवेज वाहन चालकों ने वाहन चलाने की कोशिश की तो उन्हें डोईवाला से लेकर हरिद्वार में जगह-जगह यूनियनों के आक्रोश का शिकार होना पड़ा। देहरादून परिवहन निगम के रीजनल मैनेजर संजय गुप्ता ने इस पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की है। उधर रोडवेज वाहन चालकों ने आरोप लगाया कि हरिद्वार जाते समय वाहनों को रोक कर उनके साथ मारपीट और बदतमीजी की गई।

ये भी पढिए : साल के पहले दिन हिट एंड रन कानून के खिलाफ हड़ताल पर रहे बस चालक..

मसूरी में भी एक्ट के खिलाफ ट्रक-डंपर ड्राइवर हड़ताल जारी | Strike in protest against the hit-and-run law

देहरादून के ड्राइवर यूनियन का कहना है जिस तरह से केंद्र सरकार ने एमवी एक्ट में बदलाव किया है। यह हमारे लिए काला कानून है। सभी ड्राइवर इस काले कानून का विरोध करते हैं। अगर केंद्र सरकार द्वारा यह काला कानून नहीं हटाया जाता है तो सभी ड्राइवर हड़ताल पर रहेंगे। इस कानून के आने से ड्राइवरों के साथ पुलिस और आरटीओ विभाग द्वारा शोषण किया जाएगा।
वहीं, देहरादून के मसूरी में भी नए एमवी एक्ट के खिलाफ ट्रक-डंपर ड्राइवर हड़ताल पर रहे। इस वजह से ट्रांसपोर्ट सिस्टम पूरी तरीके से ठप रहा। जबकि फ्यूल नहीं पहुंचने की वजह से पेट्रोल पंप पर लंबी-लंबी लाइन लगी रही। केंद्र सरकार द्वारा किए गए हिट एंड रन कानून में बदलाव के विरोध में पूरे देश में ट्रक और डंपर चालकों ने चक्का जाम किया है।

चालकों ने सरकार के खिलाफ जुलूस निकालकर किया प्रदर्शन | Strike in protest against the hit-and-run law

हिट एंड रन कानून को लेकर उत्तराखंड परिवहन महासंघ ने बड़ा ऐलान किया है। महासंघ ने तीन जनवरी तक कानून को वापस नहीं लिए जाने पर चरणबद्ध तरीके से अपने आंदोलन को उग्र करने की चेतावनी दी है। ऋषिकेश में आज उत्तराखंड परिवहन महासंघ के अध्यक्ष सुधीर राय की अध्यक्षता में राज्य के तमाम परिवहन संस्थाओं से जुड़े पदाधिकारी बैठक के लिए पहुंचे। बैठक में सभी पदाधिकारियों ने केंद्र सरकार के द्वारा हिट एंड रन कानून का विरोध किया।
चालकों ने सरकार के खिलाफ जगह-जगह जुलूस निकालकर प्रदर्शन किया। एसडीएम कार्यालय में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम एक ज्ञापन भी सौंपा।दूसरी तरफ सुरक्षा की दृष्टि से जगह-जगह पुलिस तैनात रही। चालकों की हड़ताल होने की वजह से एलपीजी गैस सिलेंडर और पेट्रोल-डीजल के वाहन भी शहर तक नहीं पहुंच पाए। जिसकी वजह से एलपीजी गैस सिलेंडर का स्टॉक गैस गोदाम में शून्य हो गया है।

ये भी पढिए : श्रीनगर : अलग-अलग दुर्घटनाओं में दो लोगों की मौत..

कोटद्वार में भी ड्राइवर यूनियन की हड़ताल | Strike in protest against the hit-and-run law

उत्तरकाशी जिला मुख्यालय सहित बड़कोट और पुरोला में टैक्सी-मैक्सी, बस और ट्रक चालकों ने हिट एंड रन कानून में किए गए बदलाव के खिलाफ प्रदर्शन किया। जिला मुख्यालय में चालकों ने केंद्र सरकार के खिलाफ जुलूस प्रदर्शन कर कलेक्ट्रेट के निकट गंगोत्री हाईवे पर केंद्र सरकार का पुतला फूंका। इस दौरान जिलाधिकारी को सौंपे ज्ञापन में चालकों ने कानून पर पुनर्विचार नहीं होने पर अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी।

कोटद्वार में ड्राइवर यूनियन के हड़ताल का खासा असर देखने को मिला। कोटद्वार में वाहन न चलने पर यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। कोटद्वार में भी टैक्सी और ड्रक ड्राइवरों ने उत्तराखंड पूर्ण बंदी को समर्थन दिया। उधर पब्लिक ट्रांसपोर्ट हड़ताल पर चले जाने से यातायात व्यवस्था चरमरा गई है। कोटद्वार में लोगों को पहाड़ों की तरफ जाने के लिए वाहनों के लिए भटकना पड़ा।

ये भी पढिए : ऊधमसिंह नगर : बड़ा सड़क हादसा,अनियंत्रित होकर पलटा छोटा हाथी,17 महिलाएं घायल..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X