हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

राजनीति: शाह ने हरदा से अपने संबोधन में पूछे ये सवाल, हरदा ने दिए अपने अंदाज में जवाब..

उत्तराखंड: आज प्रदेश की राजनीति में काफी गर्माहट देखने को मिली। जहां केन्द्रीय गृह मंत्री ने देहरादून से आज उत्तराखंड विधानसभा का चुनावी बिगुल फूंका। केंद्रीय गृह मंत्री ने मुख्यमंत्री घस्यारी योजना का भी शुभारंभ किया। इस कार्यक्रम में बीजेपी की एकजुटता भी दिखी तो वहीं दो विधायक नाराज भी दिखे। वहीं अमित शाह अपने संबोधन में विपक्षी पार्टी कांग्रेस और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत से कई सवाल पूछे जिनका जवाब अब हरदा ने अपने अंदाज में दिया।

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर: समाज कल्याण विभाग का एक और अधिकारी की गिरफ्तारी, स्कॉलरशिप स्कैम में था वांछित..

हरीश रावत ने पलटवार करते हुए कहा “दु:खद, गुस्सा बढ़ाने वाला, अपमानित करने वाला संबोधन श्री अमित शाह जी ने हमारी माँ-बहनों की पहचान घसियारी बनाने के धन सिंह रावत के दुष्प्रयास पर अपनी मोहर लगा दी। अमित शाह जी इससे ज्यादा कष्ट आप उत्तराखंड के लोगों को और कुछ नहीं पहुंचा सकते थे जो आपने इस घसियारी संबोधन पर भारत सरकार की मुहर लगा दी। अब दुनिया जियारानी, तीलू रौतेली, बछेंद्री पाल और हमारी महिलाओं के अद्भुत साहस के इतिहास को नहीं बल्कि घसियारी शब्द के साथ जुड़े हुए इतिहास को खोजेंगे, बहुत पीड़ा पहुंच रही है।

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर: अमित शाह के कार्यक्रम में दिखी एकजुटता। पहले रेखा हुई नाराज फिर चैंपियन को उतारा मंच से..

वहीं मुख्यमंत्री हरीश रावत ने साफ तौर पर कहा जिस तरीके से महंगाई बीजेपी बढ़ा रही है। लोगों को महंगा डीजल और पेट्रोल खरीदना पड़ रहा है अगर लोगों में सहनशक्ति है वह भाजपा को चुने। इनके अनुसार लेकिन मुझे उम्मीद है कि जनता उनको बिल्कुल नहीं चाहेगी। मंच पर हरीश रावत के नाम को लगातार अमित शाह द्वारा लिए जाने पर कटाक्ष करते हुए हरीश रावत ने कहा अब लगता है अमित शाह की चाहत भी हरीश रावत ही हैं। वहीं हरीश रावत ने शुक्रवार को नमाज की छुट्टी के नोटिफिकेशन को लेकर चुनौती देते हुए कहा कि तुम्हारी सरकार प्रदेश में है चाहे सीबीआई लगा दो क्या किसी से भी ढूंढ वालों अगर ऐसा कोई आदेश हम ने जारी किया हो तो हमें बता दें।

यह भी पढ़ें: हंगामा: यहां कांग्रेस की समीक्षा बैठक में खूब चले जूते चप्पल, हाथापाई सहित हुआ जमकर बवाल..

वहीं हरीश रावत ने डेनिश के मुद्दे पर भी साफ तौर पर कहा कि अगर डेनिस हमारे राज में बिक रही थी तो बीजेपी राज में भी बिक रही है आज भी डेनिस बेची जा रही है। हरीश रावत ने साफ तौर पर कहा हमने अगर डेनिस को उत्तराखंड में काम करने दिया तो उसके लिए हमने नियमों के आधार पर ही उन्हें मौका दिया। हरीश रावत ने साफ तौर पर कहा कि अमित शाह कह रहे हैं कि मेरे शासनकाल में नकली शराब बेची गई लेकिन मैं बता सकता हूं कि भाजपा के शासन काल में भगवानपुर में नकली शराब पीने से कितने लोगों की मौत हुई। हरीश रावत ने चुनौती देते हुए कहा कि अगर डेनिश पीने से एक भी मरा होगा तो फलाना व्यक्ति से मिलकर मैं कहूंगा कि तुम्हारा अपराधी हरीश रावत है।

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X