हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

उत्तराखंडः फ्री राशन में होने वाला है यह बदलाव, 60 लाख लोगों के लिए फायदा। मिलेगा फोर्टिफाइड चावल..

Now this change is going to happen in free ration for 60 lakh people. Hillvani News

Now this change is going to happen in free ration for 60 lakh people. Hillvani News

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना (एनएफएसए) के तहत रियायती राशन पाने वाले उत्तराखंड के 60 लाख लोगों को पौष्टिक तत्वों के लिए तरसना नहीं पड़ेगा। एक अप्रैल 2023 से एनएफएसए के तहत सभी कार्ड धारकों को फोर्टिफाइड चावल दिया जाएगा। सामान्य चावल को फोर्टिफाइड रूप देने के लिए सरकार ने 11 कंपनियों का पैनल तैयार कर लिया है। वर्तमान में केवल हरिद्वार एवं यूएसनगर में ही यह योजना लागू है। इसके साथ ही सरकार राशन की दुकानों से गेहूं-चावल के रूप में सामान्य अनाज देने के साथ-साथ दूसरे पौष्टिक पदार्थ भी सस्ते दाम पर देने पर विचार कर रही है। खाद्य मंत्री रेखा आर्या ने इसकी पुष्टि की। उन्होंने बताया कि उत्तराखंड के जरूरतमंद वर्ग के लोगों को सभी पौष्टिक तत्व मिल सकें, इसके लिए पिछले काफी समय से मंथन जारी है। जानकारी के मुताबिक इस किट में उच्च गुणवत्ता का आयोडीन नमक, खाद्य तेल और पौष्टिक खाद्य पदार्थ शामिल किए जा सकते हैं। इसे राशन कार्डधारकों को रियायती मूल्य पर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ेंः बदरीनाथ धाम के कपाट इस तिथि को होंगे बंद, रहेगा अवकाश..

फोर्टिफाइड चावल क्या है?
इस चावल को बनाने की प्रक्रिया बेहद ही सरल है। सामान्य चावल में विभिन्न खनिज, प्रोटीन, विटामिन निश्चित मात्रा में मिलाए जाते हैं। एक कुंतल चावल में एक किलो ‘एफआरके’ मिलाकर इसे फोर्टिफाइड बनाया जा सकता है, जिसमें आयरन, कैल्शियम, विटामिन बी-12 समेत सभी तत्व शामिल हो जाते हैं।
उत्तराखंड के सरकारी स्कूलों में पहले से है लागू
सरकारी स्कूलों में इस योजना को पहले ही लागू किया जा चुका है। पहली से 8वीं तक के छात्रों को एक अक्तूबर से मिड-डे मील में फोर्टिफाइड चावल दिया जाने लगा है। एक वरिष्ठ अफसर ने बताया कि बीते साल केंद्र ने फोर्टिफाइड चावल देने का निर्णय किया था। अगले साल अप्रैल से इस योजना का तीसरा चरण शुरू होने जा रहा है।

यह भी पढ़ेंः क्या BJP में सामने आने लगी अंतर्कलह? पूर्व मुख्यमंत्रियों ने इशारों में सरकार पर उठाए सवाल, विपक्ष हुआ हमलावार..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X