हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

जिलाधिकारी का कई कार्यालयों में औचक निरीक्षण, मचा हड़कंप। अधिकारियों को लगाई फटकार..

District Magistrate's surprise inspection in many offices. Hillvani News

District Magistrate's surprise inspection in many offices. Hillvani News

आम जनता को सरकारी कार्यालयों में अपने कार्यो एवं किसी समस्या के समाधान के लिए किसी तरह की कोई समस्या न हो इसके लिए सभी कार्यालयों में अधिकारियों एवं कर्मचारियों की उपस्थिति समय से सुनिश्चित कराने के लिए रुद्रप्रयाग जिलाधिकारी मयूर दीक्षित द्वारा आज जनपद के विभिन्न कार्यालयों का औचक निरीक्षण किया गया। जिसके बाद कार्यालयों में हड़कंप मच गया। जिसमें अभिहित (खाद्य सुरक्षा), जिला सेवायोजन, ग्रामीण रोजगार प्रशिक्षण संस्थान, वरिष्ठ निरीक्षक विधिक माप विज्ञान बाड़ तथा माप केन्द्र, सखी वन स्टॉप सेन्टर, जिला दिव्यांग पुर्नवास केन्द्र सहित जिला उपभोगता आयोग, ज्ञान गंगा उत्कृष्ट केन्द्र, कोतवाली एवं जिला चिकित्सालय का औचक निरीक्षण किया। खाद्य सुरक्षा कार्यालय का निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने उपस्थिति पंजिका का निरीक्षण किया, जिला अभिहित अधिकारी मनोज कुमार सेमवाल समय से कार्यालय में उपस्थित नहीं थे ऐसे में उनकी अनुपस्थिति दर्ज की गयी एवं स्पष्टीकरण उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गये। ग्रामीण स्वरोजगार संस्थान में विद्युत व्यवस्था ठीक न होने पर जिलाधिकारी ने विद्युत व्यवस्था को तत्काल दुरस्त करने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान वरिष्ठ निरीक्षक विधिक माप विज्ञान बाड़ तथा माप केन्द्र बंद पाया गया। जिलाधिकारी ने अधिकारियों से दूरभाष पर वार्ता कर कड़ी फटकार लगाई एवं संबंधित कार्मिकों से स्पष्टीकरण उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। सखी वन स्टॉप सेंटर के निरीक्षण के दौरान पीड़ित महिलाओं द्वारा दर्ज की गयी शिकायतों तथा काउंसिलिंग की जानकारी ली गयी। केन्द्र प्रशासक रंजना गैरोला ने बताया कि माह नवम्बर में 02 ही मामले दर्ज हुए हैं, जिस पर 01 मामले पर काउंसिलिंग की जा रही है।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंडः फ्री राशन में होने वाला है यह बदलाव, 60 लाख लोगों के लिए फायदा। मिलेगा फोर्टिफाइड चावल..

जिलाधिकारी ने केन्द्र प्रशासक को सेंटर में आगुंतक पंजिका रखने एवं यहां आने-जाने वाले सभी व्यक्तियों एवं अधिकारियों का पूरा रिकार्ड रखने के निर्देश दिए। उन्होंने वन स्टॉप सेंटर का कोई भी साइन बोर्ड न लगाए जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए आज ही बोर्ड लगाने के निर्देश दिए। जिसमें वन स्टॉप सेंटर का दूरभाष नम्बर भी अंकन करने को कहा, ताकि आमजन-मानस एवं पीड़ित महिलाओं को जानकारी प्राप्त हो सके। जिलाधिकारी द्वारा कोतवाली का भी निरीक्षण कर वहां की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। कोतवाली में इंटरनेट सर्वर डाउन होने की शिकायत पर वरिष्ठ अभियंता स्वान केन्द्र नीरज वश्ष्ठि को दूरभाष पर इंटरनेट व्यवस्था को दुरस्त करने के निर्देश दिए। ज्ञान गंगा उत्कृष्ट केन्द्र के निरीक्षण में यहां प्रशिक्षण ले रहे छात्र-छात्राओं से संवाद करते हुए जिलाधिकारी ने उनकी करियर काउंसलिंग भी की एवं छात्रों को उनके लक्ष्य प्राप्ति के लिए कड़ी मेहनत कर सफलता हासिल करने को कहा। जिला चिकित्सालय में चिकित्सा व्यवस्थाओं का निरीक्षण करते हुए जिलाधिकारी ने पंजीकरण कक्ष, औषधी कक्ष, प्रसूति वार्ड, बाल रोग कक्ष, एक्सरे कक्ष, दंत कक्ष पैथोलॉजी लैब, पुरुष मेडिकल वार्ड आदि का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि किसी भी दवा की कमी होने पर तत्काल मांग भेजी जाए, ताकि आने वाले मरीजों को सभी दवा चिकित्सालय में ही उपलब्ध हो सके। डॉक्टर इस बात का ध्यान रखें कि अनावश्यक बाहर की दवा न लिखें, मरीजों को किसी भी हाल में बाहर से दवा न लेनी पडे़। पैथोलॉजी लैब को निर्देश दिए हैं कि छोटे बच्चों एवं बुजुर्ग व्यक्तियों के सैंपल प्राथमिकता से लिए जाये, उन्हें लाइन में न खड़ा किया जाए।

यह भी पढ़ेंः बदरीनाथ धाम के कपाट इस तिथि को होंगे बंद, रहेगा अवकाश..

जिलाधिकारी ने पुरुष मेडिकल वार्ड में भर्ती मरीजों की कुशल-क्षेम पूछते हुए उनका हाल-चाल जाना एवं चिकत्सा सुविधा व खाने पर फीडबैक लिया। तीमारदारों ने बताया कि उचित उपचार व खाना मिल रहा है। आयुषमान कार्ड की जानकारी देते हुए स्टाफ ने बताया कि 01 लाख 38 हजार आयुषमान कार्ड बनाये गये हैं। जिलाधिकारी ने सभी चिकित्सकों को मरीजों को बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाने एवं कार्यों का निर्वहन सही ढंग से करने के निर्देश दिए। उन्होंने चिकित्सालय के प्रतिक्षालय कक्ष का टीवी स्क्रीन को तत्काल ठीक कराने के निर्देश दिऐ। ब्लड बैंक के निरीक्षण के दौरान अधिकारियों ने बताया कि वर्तमान में किसी भी ब्लड ग्रुप की कमी नहीं है। जिलाधिकारी द्वारा चिकित्सालय के बाहर स्थित मेडिकल स्टोरों का भी निरीक्षण किया गया। उन्होंने कैमिस्टों को उनके द्वारा बिक्री की जा रही दवाओं का रजिस्टर तैयार कर प्रतिदिन का रिकार्ड रखने को कहा। जिलाधिकारी ने थानाध्यक्ष कोतवाली जयपाल सिंह नेगी को सभी मेडिकल स्टोरों के सीसीटीवी कैमरों के निरीक्षण करने एवं जिले के सभी मेडिकल स्टोरों में सीसीटी कैमरे अनिवार्य रुप से लगवाने के लिए उचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ेंः क्या BJP में सामने आने लगी अंतर्कलह? पूर्व मुख्यमंत्रियों ने इशारों में सरकार पर उठाए सवाल, विपक्ष हुआ हमलावार..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X