हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

उत्तरकाशी: नगरपालिका का कूड़ा प्रबंधन फेल, बिखरा कूड़ा महामारी को दे रहा न्यौता..

उत्तरकाशी: जहां एक और नगरपालिका (बाड़ाहाट) उत्तरकाशी वर्षों से नगर में कूड़ा प्रबंधन नहीं कर पाया है। तो वहीं अब नगरपालिका ने मुख्य नगर के आसपास का सारा कूड़ा शहर की मुख्य सब्जी मंडी के समीप बिखेर दिया है। जिससे अब व्यापारियों को महामारी का खतरा सता रहा है। व्यापारियों का कहना है कि चार दिन से आधे नगर क्षेत्र का कूड़ा सब्जी मंडी के पास बिखरा पड़ा है। लेकिन नगरपालिका प्रशासन को सूचना देने के बाद भी कूड़ा नहीं उठाया जा रहा है। जबकि सब्जी मंडी में हर दिन हजारों लोग सब्जी लेने आते हैं तो आसपास अन्य दुकानों के साथ आवासीय बस्ती में बरसात के बाद कूड़ा महामारी को न्यौता दे रहा है।

Read More- बड़ी खबर: मुख्यमंत्री ने ‘पब्लिक आई एप’ और ‘मिशन गौरा शक्ति एप’ किया शुभारंभ..

देखें वीडियो। चैनल को लाइक सब्सक्राइब करें।

नगरपालिका उत्तरकाशी का कूड़ा प्रबधन सिस्टम फेल हो चुका है। नगरपालिका के अधिकारियों और कर्मचारियों की मनमानी का खामियाजा नगर की सब्जी मंडी सहित आसपास के दुकानदारों को भुगतना पड़ रहा है। स्थानीय व्यापारी विक्रम सिंह पुंडीर का कहना है कि चार दिन से नगर का आधा कूड़ा सब्जी मंडी के समीप बिखेर कर छोड़ दिया गया है। जिस कारण बरसात में महामारी का खतरा बढ़ गया है। घरों में दिन भर मच्छर और मक्खियों के कारण स्थानीय निवासियों, व्यापारियों और ग्राहकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

Read More- उत्तराखंड: मौसम विभाग ने किया ऑरेंज और येलो अलर्ट जारी, भारी बारिश की चेतावनी..

स्थानीय व्यापारियों का कहना है कि नगर से 500 मीटर दूरी पर कूड़े का डंपिंग जोन है। लेकिन नगरपालिका के अधिकारी और कर्मचारी 500 मीटर दूर न जाकर नगर के बीचोबीच कूड़ा उड़ेल रहे हैं। कहा कि इस सम्बंध में नगरपालिका प्रशासन को कई बार अवगत करवाया गया। लेकिन कोई भी कार्यवाही नहीं कर रहा है। नगरपालिका अध्यक्ष रमेश सेमवाल का कहना है कि आज गाड़ियां नहीं आने के कारण कूड़ा नहीं उठ पाया। शुक्रवार सुबह सब्जी मंडी के समीप से कूड़ा उठाकर डंपिंग जोन पहुंचाया जाएगा।

Read More- उम्मीद: कैसे पूरा होगा मंत्री का वादा? 8 दिन बीते 12 दिन शेष, प्रशिक्षितों में रोष..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X