हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

कालीमठ पहुंचे मुख्यमंत्री धामी ने लिया मां काली का आश्रीवाद, क्षेत्र को दी कई सौगातें..

Hillvani-CM-Dhami-Visit-Kalimath-Uttarakhand

Hillvani-CM-Dhami-Visit-Kalimath-Uttarakhand

ऊखीमठ। लक्ष्मण नेगीः मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने केदारनाथ धाम में चल रहे निर्माण कार्यों का स्थलीय निरीक्षण करने के बाद जनपद के सिद्धपीठ कालीमठ मंदिर में पहुंचकर पूजा-अर्चना की। इस अवसर पर उन्होंने प्रदेश की खुशहाली व चहुंमुखी विकास की कामना की। इससे पूर्व कालीमठ पहुंचने पर जन प्रतिनिधियों व भाजपा कार्यकर्ताओं सहित स्थानीय लोगों ने मुख्यमंत्री का ढोल-नगाड़ों व फूल-मालाओं से जोरदार स्वागत किया। मां कालीमठ के प्रांगण में आयोजित कार्यक्रम में क्षेत्रीय जनता को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार द्वारा पूरी पारदर्शिता के साथ विकास कार्यों को गति दी जा रही है तथा उनके द्वारा जो संकल्प लिए गए हैं उन्हीं के अनुसार विकास कार्यों को पूर्ण करने के लिए गति प्रदान की जा रही है।

यह भी पढ़ेंः CM धामी ने किया केदारनाथ निर्माण कार्यों का स्थलीय निरीक्षण, श्रमिकों से की वार्ता। यात्रा तैयारियों को लेकर दिए निर्देश..

मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि विकास कार्यों में सभी का सहयोग भी जरूरी है तभी वह कार्य सफलता पूर्वक पूर्ण हो सकता है। उन्होंने कहा कि यशस्वी प्रधानमंत्री के नेतृत्व में एक नई कार्य संस्कृति व कार्य व्यवहार देश के अंदर आया है। जिसके लिए सभी को नई प्रेरणा मिल रही है तथा चरणबद्ध तरीके से विकास कार्यों को गति प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि बाबा केदारनाथ में चल रहे निर्माण कार्यों का उनके द्वारा निरंतर जानकारी ली जा रही है, जिसमें शंकराचार्य की समाधि, आस्था पथ बनाए जा रहे काॅम्पलैक्स, चिकित्सालय, सभा स्थल आदि के संबंध में पूर्ण जानकारी ली जा रही है। उन्होंने कहा कि हमने संकल्प लिया था कि नई सरकार के गठन के बाद उत्तराखंड में समान नागरिकता कानून लागू करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंड: SDM संगीता कनौजिया की गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त, हालात गंभीर। चालक की हुई मौत..

मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि भारत माला श्रृंखला में हर क्षेत्र को सड़क मार्ग से जोड़ा जा रहा है तथा ऋषिकेश से कर्णप्रयाग तक रेल लाइन का कार्य बड़ी तेजी से चल रहा है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष चारधाम यात्रा ऐतिहासिक होने वाली है जिसमें भारी संख्या में श्रद्धालुओं के आने की संभावना है तथा उनके साथ अतिथि देवो भवः के तहत उनका आदर और सत्कार करें तथा उनके साथ उचित व्यवहार करें। उन्होंने कहा कि पर्यटन हमारी आजीविका का प्रमुख साधन हैं इससे सभी को लाभ प्राप्त होता है इसलिए पर्यटक के लिए सुविधाओं पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है।

यह भी पढ़ेंः पहलः गगास नदी जैव विविधता शोध केंद्र की होने जा रही स्थापना, परंपरागत नौले-धारों का सरंक्षण अति आवश्यक…

इस अवसर पर म मुख्यमंत्री द्वारा निम्न घोषणाएं की गई जिनमें शहीद राम सिंह विद्यालय के आने वाले सत्र में उच्चीकरण की व्यवस्था की जाएगी। साथ ही कोटमा विद्यालय में स्थाई भवन बनाया जाएगा। चिलौंड सड़क मार्ग की घोषणा की गई। तथा स्यांसूगड़ सड़क मार्ग की घोषणा की। विद्यापीठ डिग्री काॅलेज में बीएससी की कक्षाओं को बढ़ाने का कार्य किया जाएगा। गौरीकुंड से रामबाड़ा-चैमासी कालीमठ मोटर मार्ग का कार्य किया जाएगा। इसके अलावा अन्य जो भी मांग पत्र दिए गए हैं उनका आंकलन कर उस पर आवश्यक कार्यवाही हेतु विचार किया जाएगा। इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक शैला रानी रावत ने मुख्यमंत्री के उनकी विधान सभा क्षेत्र में आगमन पर स्वागत एवं अभिनंदन किया गया।

यह भी पढ़ेंः मई माह में चमकेगी इन राशियों की किस्मत, देवी लक्ष्मी रहेंगी मेहरबान। क्या आपकी राशि है शामिल?

क्षेत्रीय विधायक शैला रानी रावत ने मुख्यमंत्री को क्षेत्र की कई समस्याओं से अवगत कराते हुए उन्हें पूरा करने का आग्रह किया गया। उन्होंने कहा कि क्षेत्र की जनता ने आपदा के दंश को झेला है जिसके लिए उन्होंने यात्रा के दौरान स्थानीय लोगों को प्राथमिकता देने का आग्रह किया गया। मुख्यमंत्री के आगमन पर प्रधान मक्कू विजयपाल नेगी, पावजगपुडा अरविन्द रावत व क्षेपस जयवीर नेगी ने उन्हें मक्कूमठ में आयोजित महायज्ञ व शिव महापुराण कथा में बतौर मुख्य शिरकत करने का निमन्त्रण दिया। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष अमरदेई शाह, विधायक रुद्रप्रयाग भरत सिंह चौधरी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंडः हफ्तेभर और झेलना होगा बिजली संकट, जानें मांग-सप्लाई..

साथ ही अध्यक्ष केदारनाथ नगर पंचायत देवप्रकाश सेमवाल, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष चंडी प्रसाद भट्ट, बाल संरक्षण आयोग के सदस्य बाचस्पति सेमवाल, पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष बिक्रम कपर्वाण, प्रधान कालीमठ गजपाल राणा, युवा मोर्चा के उपाध्यक्ष प्रदीप राणा, श्रीनिवास पोस्ती, पंकज भट्ट, अजय सेमवाल,नगर पंचायत अध्यक्ष विजय राणा, शकुन्तला जगवाण, पूर्व प्रमुख ममता नौटियाल, बिक्रम कण्डारी, रीना चौधरी, आशा सती, अरविन्द राणा, राकेश रावत, त्रिलोक रावत, सोमेश्वरी भटट्, बलवन्त रावत,सरिता देवी, अनूप सेमवाल, गजपाल रावत, विनोद देवशाली, दिनेश सत्कारी, सरला खण्डूरी, जयन्ती कुर्माचली, भगत कोटवाल, महेश बर्तवाल, पुलिस अधीक्षक आयुष अग्रवाल, मुख्य विकास अधिकारी नरेश कुमार, उप जिलाधिकारी ऊखीमठ जितेंद्र वर्मा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. बी. के. शुक्ला, तहसीलदार दीवान सिंह राणा, मन्दिर समिति अधिकारी आर सी तिवारी, सुपरवाइजर यदुवीर पुष्वाण, शिव सिंह राणा, सुदर्शन राणा सहित विभिन्न विभागीय अधिकारी, कर्मचारी, विभिन्न ग्राम सभाओं के प्रधान, जनप्रतिनिधि व बड़ी संख्या में स्थानीय ग्रामीण मौजूद थे।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंड में जल्द दस्तक दे सकता है XE वैरिएंट, संक्रमण दर है ज्यादा। बच्चों के लिए है खतरनाक..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X