हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

भाजपा इन सीटों पर करेगी हार पर मंथन, इस दिन आएगी रिपोर्ट। क्या हुआ है भितरघात?

देहरादून: उत्तराखंड में भाजपा को 23 विधानसभा सीटों पर हार का सामना करना पड़ा। अब भाजपा हाई कमान इन सीटों पर समीक्षा के लिए वरिष्ठ नेताओं को जिम्मेदारी सौंपी गई है। इन सीटों में खटीमा विधानसभा सीट भी है, जिसमें पुष्कर सिंह धामी विधानसभा चुनाव 2022 हार गए थे। ये नेता एक अप्रैल को विधानसभा क्षेत्रों की रिपोर्ट प्रदेश नेतृत्व को रिपोर्ट सौंपेंगे। 

यह भी पढ़ें: मौकाः उत्तराखंड के युवाओं के लिए इन पदों पर आई बंपर भर्ती, जल्द करें आवेदन..

भाजपा ने प्रदेश महामंत्री सुरेश भट्ट, कुलदीप कुमार के साथ ही पुष्कर काला, विनय रूहेला, डा. देवेंद्र भसीन, वीरेंद्र बिष्ट, अनिल गोयल, मंयक गुप्ता, सुरेश जोशी, बलवंत सिंह भौर्याल, खिलेंद्र चौधरी, बलराज पासी और केदार जोशी को इसकी जिम्मेदारी दी है। ये सभी नेता 29 मार्च से संबंधित विधानसभा क्षेत्रों में प्रवास करेंगे। स्थानीय नेताओं से बातचीत के आधार पर यह रिपोर्ट तैयार करेंगे। प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार ने बताया कि प्रदेश नेतृत्व ने ऐसी सभी विधानसभा सीटों की समीक्षा करने का फैसला लिया है, जहां पार्टी प्रत्याशियों को हार का मुंह देखना पड़ा है। 

यह भी पढ़ें: बातचीतः रुद्रप्रयाग विधायक भरत सिंह चौधरी जी से खास मुलाकात। देखें..

भितरघात करने वालों पर होगी कार्रवाई
उत्तराखंड में भाजपा जिन 23 विस सीटों पर हारी है, उनमें सबसे चर्चित सीट खटीमा है। यहां से मुख्यमंत्री पुष्कर धामी स्वयं लड़ रहे थे। यहां तक कि पिरान कलियर में पार्टी प्रत्याशी की जमानत तक जब्त हो गई थी और कुछ सीटों पर तीसरे नंबर पर तक रही। इसके क्या-क्या वजह रहीं, इन्ही बिदुंओं की अब पड़ताल शुरू होने जा रही है। 

यह भी पढ़ें: ध्यान दें: क्यों होता है पैरालिसिस? जानें लकवे के कारण और लक्षण..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X