हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

उत्तराखंडः सहकारी बैंक में कार्यरत 2 दोस्त नदी में डूबे, तीसरे दोस्त को मौत के मुंह से निकाल लाया फोन..

पौड़ी गढ़वाल: जनपद पौड़ी के रिखणीखल ब्लॉक के कोटनाली गांव के पास नदी में नहाने गए सहकारी बैंक कर्मचारियों की नदी में डूबने से मौत हो गई। सहकारी बैंक में काम करने वाले तीन दोस्त घूमने गए थे। तीनों ने नदी में नहाने का मन बनाया। तीनों पुल के नीचे नदी में उतरे। इस दौरान एक दोस्त के पास फोन आ गया वह फोन पर बात करते हुए दूसरी तरफ चल गया, लेकिन जब तक वो वापस पहुंचा उसके दो दोस्त नदी में डूबकर ओझल हो गए थे।

यह भी पढ़ेंः दुःखद: ड्यूटी के दौरान उत्तराखंड का लाल शहीद, परिवार सहित प्रदेश में शोक की लहर..

जानकारी के अनुसार रिखणीखाल सहकारी बैंक में कार्यरत कोटद्वार निवासी अनूप सिंह, रिखणीखाल प्रखंड के अंतर्गत ग्राम ह्युंदी (सिरवाणा ) निवासी पंकज सिंह और हर्रावाला (देहरादून) निवासी प्रशांत शनिवार शाम करीब साढ़े तीन बजे ग्राम कोटनाली से करीब तीन किमी आगे भैंसगड़ गदेरे पर बने पुल पर पहुंचे। तीनों दोस्त नहाने के लिए गदेरे में उतर गए। इस बीच प्रशांत किसी से फोन पर बात करने लगा, जबकि अनूप और पंकज नदी में नहाने लगे। कुछ देर बाद जब प्रशांत नदी की तरफ आया तो उसे अनूप और पंकज कहीं नजर नहीं आए। जब दोनों का पता नहीं चला तो प्रशांत ने आसपास के व्यक्तियों को इसकी जानकारी दी।

यह भी पढ़ेंः चंपावत उपचुनाव: CM धामी को नफा या नुकसान? क्या हैं भाजपा कांग्रेस की कमजोरी? दलबदल की भी आहट…

ग्रामीणों के साथ प्रशांत ने भी उनकी तलाश की, लेकिन दोनों दोस्तों का कुछ पता नहीं चला। जिसके बाद सूचना पर शाम छह बजे रिखणीखाल थाने से थाना प्रभारी कमलेश शर्मा के नेतृत्व में पुलिस टीम मौके पर पहुंची और नदी में दोनों युवकों की तलाश शुरू कर दी। पुलिस ने बताया कि ग्रामीणों की मदद से चलाए गए खोजी अभियान के बाद शाम सात बजे करीब 26 वर्षीय पंकज और 30 वर्षीय अनूप सिंह के शव बरामद कर लिए गए। जिसके बाद दोनों के परिजनों को इसकी सूचना दी गई जिसके बाद दोनों के परिवार में कोहराम मच गया। दोनों युवकों के गांव, परिवार और रिस्तेदारों में मातम पसर गया।

यह भी पढ़ेंः पहली बार PMO से होगी केदारनाथ यात्रा की मॉनीटरिंग, प्रधानमंत्री मोदी देखेंगे लाइव प्रसारण..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X