हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

उत्तराखंड: 29 नवंबर से आयोजित होगा शीतकालीन सत्र, इस बार यह होगा खास..

उत्तराखंड का विधानसभा शीतकालीन सत्र 29 नवम्बर से पांच दिसम्बर तक देहरादून विधानभवन में आयोजित होगा। विधायी विभाग की ओर से शीतकालीन सत्र के संदर्भ में तैयार किये गए प्रस्ताव को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंजूरी दे दी है। हालांकि इस कार्यक्रम पर 16 नवंबर को प्रस्तावित कैबिनेट बैठक में अंतिम मुहर लगाई जानी है। विदित है कि विधानसभा का शीत कालीन सत्र 16 दिसम्बर से पहले आयोजित किया जाना है और विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खण्डूरी काफी समय से सत्र को लेकर तैयारियां कर रही हैं। सत्र की तिथि तय होने से पहले ही विधानसभा में दलीय बैठक भी कराई जा चुकी है। विधायी विभाग के अपर सचिव महेश कौशिवा ने 29 नवम्बर से 5 दिसम्बर तक शीतकालीन सत्र आयोजन की पुष्टि की है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में अनोखा स्कूल… जहां दो बच्चों को पढ़ाने के लिए तैनात हैं तीन टीचर..

अनुपूरक बजट लाएगी सरकार
विधानसभा के शीतकालीन सत्र में सरकार राज्य महिला क्षैतिज आरक्षण का अध्यादेश, राज्य आंदोलनकारियों के क्षैतिज आरक्षण का संशोधित विधेयक समेत कई अन्य नियमावली, रिपोर्ट और लेखा प्रतिवेदन सदन पटल पर रखे जाएंगे। वित्त विभाग के अधिकारियों ने बताया की अनुपूरक प्रस्ताव के संदर्भ में तैयारी शुरू कर दी गई है। विदित है कि सरकार 65 हजार 500 करोड़ का बजट लाई थी। लेकिन अब फिर से अनुपूरक बजट लाया जा रहा है।
तीन विधायकों ने की थी दून की हिमायत
विपक्ष ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण स्थित भराड़ीसैंण विधानसभा में शीतकालीन सत्र कराने की मांग कर रहा था, लेकिन दो निर्दलीय और एक बसपा विधायक ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर शीतकालीन सत्र देहरादून में कराने का अनुरोध किया था। तीनों विधायकों ने गैरसैंण में ग्रीष्मकालीन सत्र कराने का सुझाव दिया था।

यह भी पढ़ें: भाजपा-कांग्रेस ने प्रदेश को इन 22 सालों में पहुंचाया नुकसान! दोनों पार्टी विकास की बनती रही बाधक..





Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X