हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

उत्तराखंड के मिला नया कार्यवाहक डीजीपी.. जानिए कौन हैं IPS अभिनव कुमार..

0
Uttarakhand gets new acting DGP. Hillvani News

Uttarakhand gets new acting DGP. Hillvani News

उत्तराखंड के नए कार्यवाहक डीजीपी का कार्यभार आईपीएएस अभिनव कुमार को सौंपा गया है। आईपीएस दीपम सेठ व पीवीके प्रसाद भी इस पद के लिए दावेदार थे, लेकिन मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अभिनव कुमार पर भरोसा जताया है। 53 साल के अभिनव कुमार 1996 बैच के आईपीएस हैं। जो कि 1 दिसंबर को कार्यभार ग्रहण करेंगे। अभिनव कुमार खुफिया विभाग के चीफ भी बने रहेंगे। इसको लेकर अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने आदेश जारी किए हैं। आपको बता दें कि उत्तराखण्ड के वर्तमान पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार, (आई०पी०एस० आर०आर०-1989) के अधिवर्षता आयु पूर्ण करने पर 30.11.2023 के बाद सेवानिवृत्त होने वाले हैं।

यह भी पढ़ेंः देहरादून पुलिस महकमे में 7 दारोगाओं का हुआ तबादला, जानें किसको कहां मिली जिम्मेदारी..

देर शाम शासन ने इसका आदेश जारी कर दिया है। इससे पहले वह हरिद्वार और देहरादून पुलिस कप्तान रहे हैं। कुछ महीनों तक उन्होंने आईजी गढ़वाल के पद पर सेवा दी है। केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर सीआरपीएफ में सेवा दी। जिस वक्त जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाई गई, अभिनव कुमार के हाथ में कमान थी। अभिनव कुमार मीडिया में अक्सर अपने बयानों के लिए चर्चा में रहते हैं। उनका नौ साल पहले सत्यमेव जयंते प्रोग्राम में पुलिस को लेकर दिया बयान अब तक चर्चा में रहता है। अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान से पुलिस की तरफ से माफी मांगने के लिए भी पत्र लिखा था।

यह भी पढ़ेंः कैबिनेट मंत्री डॉ. प्रेमचंद अग्रवाल ने चिन्यालीसौड़ के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती किये गए श्रमिकों से की मुलाकात..

वर्तमान में वह मुख्यमंत्री के विशेष सचिव हैं। उत्तराखंड गठन के बाद अभिनव कुमार यहां आ गए थे। यहां उन्होंने विभिन्न जिलों की कप्तानी भी संभाली। वह 2009 में डीआईजी और 2014 में आईजी बने। आईपीएस अभिनव कुमार आईटीबीपी में जम्मू कश्मीर में तैनात रहे। जिस वक्त जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाई गई तब घाटी में कमान उन्हीं के हाथ में थी। डीजीपी के लिए निर्धारित सेवा अवधि की शर्तों को यूपीएससी ने शिथिल करते हुए 25 वर्ष कर दिया तो अभिनव भी इस दायरे में आ गए। पिछले दिनों एडीजी दीपम सेठ और पीवीके प्रसाद के साथ उनका नाम भी पैनल में भेज दिया गया।

यह भी पढ़ेंः युवती को जान से मारने की नीयत.. सरेबाजार मुंह में डाली पिस्तौल की नली, पढ़िए क्या है मामला..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X