हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

FRI प्रशासन पर सख्त हुए जिलाधिकारी। दून में दो इलाके कंटेनमेंट जोन घोषित, ये रहेंगी पाबंदियां..

देहरादून: कोरोना संक्रमण बढ़ने पर दून के दो इलाके फिर कंटेनमेंट जोन घोषित किए गए हैं। दोनों इलाकों में बुधवार को कोरोना के कई पॉजिटिव मामले सामने आए थे। अब जिलाधिकारी डॉ. आर राजेश कुमार ने दून में शहरी क्षेत्र में दो कंटेनमेंट जोन बनाए जाने का आदेश जारी किया है। जिनमें इंदिरा गांधी नेशनल एकेडमी के ओल्ड हॉस्टल एफआरआई और जी-2 बी-19 तिब्बतन कालोनी डिक्लिन, सहस्त्रधारा रोड, कुल्हाल में कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति मिलने पर दोनों क्षेत्र कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं।

यह भी पढ़ें: Corona Case: FRI में फटा कोरोना बम, 12 प्रशिक्षु IFS अफसर मिले पॉजिटिव। मचा हड़कंप..

जिलाधिकारी डॉ. आर राजेश कुमार ने बताया कि उप जिलाधिकारी सदर मनीष कुमार को उक्त क्षेत्रों में कांटेक्ट ट्रेसिंग और प्रभावी सर्विलांस कराने की जिम्मेदारी सौंपी है। मुख्य चिकित्सधिकारी को इन क्षेत्रों में अधिक से अधिक लोगों के सेंपल लेने के साथ ही नियमित मानिटरिंग का निर्देश दिया है। प्रतिबंधित क्षेत्रों में लोगों की आवाजाही बंद रहेगी। ऐसे में जिला पूर्ति अधिकारी को आवश्यक वस्तुओं और खाद्य सामग्री की आपूर्ति कराने का निर्देश दिया है।

यह भी पढ़ें: मुख्यमंत्री ने किया बड़ा ऐलान। इन्हें फिर मिलेगा राज्य मंत्री का दर्जा, प्रधानों को भी दिया तोहफा..

बाजारों में सावधानी बरतने के निर्देश
कोरोना की रफ्तार धीमी पड़ने पर प्रशासन का जिले में सोशल डिस्टेंस को लेकर फोकस हट गया था। जिलाधिकारी ने एक बार फिर से लोगों से सार्वजनिक स्थानों पर जाते वक्त मास्क का उपयोग करने की अपील की है। उन्होंने बाजारों और भीड़भाड़ वाले स्थानों पर सोशल डिस्टेंस के नियम के अनुपालन का निर्देश भी दिया है।

FRI में 12 प्रशिक्षु IFS अफसर मिले पॉजिटिव
वहीं बीते दिन एफआरआई में 12 आईएफएस अधिकारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। जानकारी के अनुसार देहरादून स्थित एफआरआई के 12 ट्रेनी आईएफएस अधिकारियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। जिसके बाद स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया है। उत्तराखंड राज्य में पिछले साल भी कोरोना संक्रमण की शुरुआत एफआरआई से ही हुई थी। एक साथ 12 आईएफएस अधिकारी पॉजिटिव आने के बाद एफआरआई को पर्यटकों के लिए बंद कर किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर: यहां पूर्व फौजी ने लाइसेंसी बंदूक से पत्नी को मारी गोली फिर खुद को उड़ाया, फैली सनसनी..

FRI प्रशासन पर सख्त हुए जिलाधिकारी देहरादून
उत्तराखंड में एक बार फिर एफआरआई से ही कोरोना के मामले फैलने की संभावना जताई जा रही है। हालांकि एफआरआई प्रशासन के अनुसार जितने भी ट्रेनी आईएफएस आए हैं सभी ने कोरोना के डबल डोज लगाए हुए हैं। लेकिन फिर भी जिला प्रशासन इस मामले को लेकर सख्त है। जिलाधिकारी डॉ. आर राजेश कुमार ने एफआरआई प्रबंधन को पत्र लिखकर पूछा है कि क्यों न उनके खिलाफ कोविड-19 की कार्रवाई अमल में लाई जाए।

जिलाधिकारी द्वारा भेजा गया पत्र…

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: मुख्यमंत्री धामी कर सकते हैं बड़ा ऐलान, जल्द यह बोर्ड हो सकता है रद्द..

बीते दिन उत्तराखंड में कोरोना के आंकड़े
कोविड-19 के बीते कल राज्य में 8 नए संक्रमित मरीज मिले हैं जबकि आज विभिन्न अस्पतालों से 31 लोगों को डिस्चार्ज किया गया है जबकि अब एक्टिव केसों की संख्या भी घटकर 157 हो गई है। उत्तराखंड स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार गुरुवार को अल्मोड़ा में एक, देहरादून में पांच, हरिद्वार में एक, उधम सिंह नगर में एक,कोरोना से पीड़ित मरीज पाया गया जबकि आज बागेश्वर,चमोली, चंपावत, नैनीताल, पौड़ी गढ़वाल, पिथौरागढ़, रुद्रप्रयाग,टिहरी गढ़वाल, उत्तरकाशी, में आज एक भी कोरोना से पीड़ित मरीज नहीं मिला। इस तरह आज 8 लोगों में कोरोना संक्रमण के मिलने के साथ राज्य में इस संक्रमण से पीड़ित लोगों का अब आंकड़ा बढ़कर के 344156 हो गया है जबकि अब तक इस संक्रमण से कुल 7407 लोगों की मौत अब तक हो चुकी है।

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X