हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

शहीद गौतम लाल का पार्थिव शरीर आज पहुंचेगा पैतृक गांव, सैन्य सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार..

टिहरी गढ़वाल: टिहरी जिले के नोली गांव निवासी गौतम लाल की नागालैंड में मृत्यु होने के बाद उत्तराखंड में शोक का माहौल छाया हुआ है। जानकारी के मुताबिक नागालैंड में तैनात शहीद गौतम लाल की टीम ने आतंकवादी समझ कर कुछ लोगों पर फायरिंग कर दी जिसमें मजदूर समेत 14 लोगों की मौत हो गई, जिसके बाद वहां हिंसा भड़क उठी और गौतम लाल उस हिंसा में शहीद हो गए। 6 दिसंबर को शहीद गौतम का पार्थिव शरीर जौलीग्रांट एयरपोर्ट लाया गया। जहां कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंचे इस वीर सैनिक की शहादत पर उन्होंने शोक जताया साथ ही परिजनों को हर संभव मदद करने का आश्वासन भी दिया। कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी के साथ देवप्रयाग विधायक विनोद कंडारी भी श्रद्धांजलि अर्पित करने जौली ग्रांट एयरपोर्ट पहुंचे।

यह भी पढ़ें: दुःखद खबर: घास लेने गई महिला को तेंदुआ ने बनाया अपना शिकार। परिजनों में कोहराम..

टिहरी जिले के नौली गांव (हिंसरियाखाल पट्टी) निवासी सेना के पैराशूट 24 वर्षीय शहीद गौतम लाल का पार्थिव शरीर सोमवार शाम को जौलीग्रांट देहरादून लाया गया और पार्थिव शरीर एम्स ऋषिकेश में ही रहा। आज मंगलवार को शहीद गौतम लाल का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव पहुंचाया जाएगा। जहां पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा। शहीद के गांव में जवान की शहादत से कोहराम मचा हुआ है। परिजन अपने बेटे को याद कर रो रहे है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड मंत्रिमंडल बैठक में कई प्रस्ताव पर लगी मुहर, पढ़ें खबर..

बता दें कि  गौतम वर्ष 2018 में पैराशूट रेजीमेंट की 21वीं बटालियन में भर्ती हुए थे। वह रमेश लाल और रूपा देवी के सबसे छोटे पुुत्र है। उन्होंने राजकीय इंटर कॉलेज हिंसरियाखाल से इंटरमीडिएट की पढ़ाई की है। जिसके बाद वह सेना में भर्ती हो गए थे। इन दिनों वह नगालैंड ड्यूटी पर थे। नगालैंड के मोन जिले में शनिवार को सैन्य बलों की फायरिंग में 14 लोगों की मौत के बाद रविवार को भी तनाव चरम पर रहा। इस दौरान गौतम की शहादत की खबर आई। गौतम लगभग हर दो दिन के अंतराल में घर में फोन करके माता-पिता व परिजनों का हाल जानते थे। शुक्रवार को भी उनका फोन आया था। उन्होंने जनवरी में घर आने की बात की थी। बेटे का इंतजार कर रही मां को जैसे ही बेटे की शहादत की खबर मिली वह बेसुध हो गई। परिवार गांव सहित प्रदेश में शोक की लहर दौड़ पड़ी।

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X