हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

उत्तराखंड में आदर्श आचार संहिता तुरंत प्रभाव से लागू, अगले माह होंगे चुनाव..

उत्तराखंड: उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर की 690 विधानसभा सीटों के लिए चुनावों की तारीख़ों का एलान हो गया है। आज शनिवार को साढ़े तीन बजे चुनाव आयोग के मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चन्द्र ने दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित प्रेस कॉफ़्रेंस में पाँचों राज्यों के चुनावों शेड्यूल की घोषणा की।
5 राज्यों के विधानसभा चुनाव का शेड्यूल
पहला चरण: 10 फरवरी- उत्तर प्रदेश
दूसरा चरण: 14 फरवरी-उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा
तीसरा चरण: 20 फरवरी- उत्तर प्रदेश
चौथा चरण: 23 फरवरी- उत्तर प्रदेश
पांचवा चरण: 27 फरवरी- उत्तर प्रदेश, मणिपुर
छठवां चरण: 3 मार्च- उत्तर प्रदेश, मणिपुर
सातवां चरण: 7 मार्च- उत्तर प्रदेश
नतीजे: 10 मार्च को आएंगे..

यह भी पढ़ें: RTI में खुलासा: पूर्व विधायक पेंशन से हो रहे मालामाल, कर्मचारी बेहाल..

उत्तराखंड में 14 फरवरी को वोटिंग होगी। जबकि अन्य राज्यों के साथ उत्तराखंड में भी 10 मार्च को वोटों की गिनती होगी। उत्तराखंड में 25 जनवरी से नामांकन शुरू होंगे। नामांकन की आखिरी तारीख 28 जनवरी होगी। स्क्रूटनी 29 जनवरी को होगी। नामांकन वापस लेने की आखिरी तारीख 31 जनवरी होगी। 14 फरवरी को प्रदेश की 70 विधानसभा सीटों पर वोट डाले जाएंगे। वहीं मतगणना 10 मार्च को होगी। आपको बता दें कि 70 सीटों वाली उत्तराखंड विधानसभा का कार्यकाल 23 मार्च को खत्म हो रहा है। राज्य में 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 57 सीट जीतकर प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनाई थी जबकि विपक्षी दल कांग्रेस को महज 11 सीटें मिली थीं। त्रिवेंद्र सिंह रावत मुख्यमंत्री बने थे, लेकिन चार साल बाद उन्हें हटाकर बीजेपी ने पहले तीरथ सिंह रावत और महज कुछ महीने बाद पुष्कर सिंह धामी को उत्तराखंड का मुख्यमंत्री बनाया।
2017 विधानसभा चुनाव का हाल
कुल सीट- 70
बीजेपी- 57
कांग्रेस- 11
अन्य-2

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में बढ़ी सख्ती, एसओपी जारी..

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी अब अपने प्रचार पर 40 लाख रुपये तक खर्च कर सकेंगे। प्रदेश के सभी राजनीतिक दल बढ़ती महंगाई को देखते हुए खर्च की सीमा में बढ़ोतरी करने की मांग कर रहे थे। कुछ दिनों पहले उत्तराखंड में चुनावी तैयारियों का जायजा लेने आए मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा से बीजेपी और कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने चुनाव खर्च की सीमा को बढ़ाने का मसला उठाया था। उत्तराखंड में वोट डालने के लिए मतदाताओं को एक घंटे का अतिरिक्त समय मिलेगा। मतदान अब सुबह आठ से शाम छह बजे तक चलेगा। पहले इसकी समयावधि सुबह आठ से शाम पांच बजे तक नियत थी। चुनाव की तैयारियां परखने राज्य के दौरे पर आए मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुशील चंद्रा ने यह एलान किया था।

यह भी पढ़ें: रोज टूट रहे रिकॉर्ड, सावधान रहें सतर्क रहें..

मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने बताया कि पांच जनवरी को प्रकाशित होने वाली मतदाता सूची के अनुसार राज्य में 81.43 लाख मतदाता हैं। इस वर्ष इसमें 1.98 लाख नए महिला और 1.06 लाख पुरुष मतदाता जुड़े हैं। 18 से 19 वर्ष की आयु के मतदाताओं की संख्या 1.10 लाख है, जबकि 80 वर्ष से अधिक आयु के 1.43 लाख मतदाता हैं। दिव्यांग मतदाताओं की संख्या 66648 हो गई है, जबकि सर्विस मतदाता 93935 हैं। साथ ही सुशील चंदा ने कहा कि राज्य में अभी तक एक पोलिंग बूथ पर अधिकतम 1500 वोटर का मानक था, जिसे अब 1200 किया गया है। इस क्रम में 623 नए बूथ बनाए गए हैं और यहां कुल पोलिंग बूथ की संख्या 11447 हो गई है। इस हिसाब से प्रत्येक बूथ पर वोटर की संख्या 700 के लगभग आएगी।



Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X