हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

पंचतत्व में विलीन हुए विधायक हरबंस कपूर, नम आंखों से लोगों ने दी अश्रुपूर्ण विदाई..

देहरादून: राजधानी के कैंट क्षेत्र से भाजपा विधायक हरबंस कपूर का निधन हो गया है। हरबंस कपूर के निधन से पार्टी और उनके क्षेत्र के लोगों में भी शोक व्याप्त है। वह 75 साल के थे। कपूर लगातार आठ बार विधायक चुने गए थे। उन्होंने उत्तराखंड विधानसभा के अध्यक्ष पद का भार भी संभाला था। हरबंस कपूर के निधन के शोक में सोमवार को देहरादून जिले के सभी सरकारी कार्यालय बंद रहे। विधायक हरबंस कपूर बेहद सादा जीवन जीते थे। वह जीवन भर चेतक स्कूटर में ही चलते रहे।

यह भी पढ़ें: तीर्थ पुरोहितों ने विजयपाल सजवाण को दिया जीत का आश्रीवाद, कहा गंगोत्री क्षेत्र के हैं सजग प्रहरी..

लक्खीबाग में हुआ विधायक का अंतिम संस्कार
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी हरबंस कपूर के देहरादून स्थित आवास पर पहुंचे और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। इसस दौरान मुख्यमंत्री ने उनके निधन पर दुख व्यक्त किया और भगवान ने उनकी आत्म की शांति की प्रार्थना की। उन्होंंने भगवान से परिवारजनों को इस दुख की घड़ी में धैर्य प्रदान करने की प्रार्थना भी की।विधायक हरबंस कपूर के इंदिरा नगर स्थित आवास पर समर्थकों की भीड़ उमड़ी। कैबिनेट मंत्री बिशन सिंह चुफाल, गणेश जोशी, विधायक खजान दास समेत बड़ी संख्या में कार्यकर्ता पहुंचे इसके बाद उनके पार्थिक शरीर को लखीबाग श्मशान घाट ले जाया गया जहां पूरे राजकीय सम्मान के साथ देहरादून के तमाम लोगों ने अपने प्रिय विधायक को अश्रुपूर्ण विदाई दी।

यह भी पढ़ें: “मम्मी मेरे पापा कौन” पोस्टर ने मचाई हलचल, क्यों और किसने लगए ये पोस्टर बना चर्चा का विषय..

पारिवारिक सूत्रों के अनुसार कपूर रविवार रात को विवाह समारोह में गए थे। उसके बाद अपने कमरे में आकर सो गए थे। सोमवाार की सुबह जब उन्हें उठाने के लिए पहुंचे तो वह नहीं उठे। इसके बाद डॉक्टर घर पर आए और उन्होंने जांच की। डॉक्टर ने उनके निधन की पुष्टि की। हरबंस कपूर की बेटी ने बताया कि पिछले तीन दिन से कपूर छाती में भारीपन की शिकायत कर रहे थे। छह साल पहले मेदांता अस्पताल में उनकी ओपन हार्ट सर्जरी हुई थी। उनके बेटे अमित कपूर ने बताया है कि आमतौर पर सुबह उनके पिता 5:30 से छह बजे के बीच उठ जाते थे। लेकिन सोमवार की सुबह वह उन्हें उठाने पहुंचे तो उनका शरीर बिल्कुल भी प्रतिक्रिया नहीं दे रहा था।

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X