हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

नैनीताल: कुमाऊं कमिश्नर ने एक बड़े रेस्टोरेंट पर मारा छापा, दाल में फफूंद तो सब्जी में तैर रहे थे कॉकरोच..

0
Kumaon Commissioner raided in restaurant

Kumaon Commissioner raided in restaurant : कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत ने नैनीताल के एक बड़े रेस्टोरेंट पर छापा मारी की। छापा मारी के दौरान एक रेस्टोरेंट की दाल में फफूंद लगी मिली तो सब्जी में कॉकरोच तैर रहे थे। रेस्टोरेंट में गंदगी मिलने के बाद कुमाऊं कमिश्नर ने खाद्य सुरक्षा विभाग के अधिकारियों को कार्रवाई के निर्देश दिये खाद्य सुरक्षा अधिकारी अभय सिंह के नेतृत्व में पहुंची टीम ने गाड़ी पड़ाव स्थित रेस्टोरेंट के संचालक के विरुद्ध चालान की कार्रवाई करने के साथ ही आटे और पनीर के सैंपल भरे। वहीं निरीक्षण के दौरान पुलिस टीम भी एक्टिव नजर आई. पुलिस ने खड़ी बाजार, तिब्बती बाजार क्षेत्र में बाहर तक सामान फैला कर रखने वाले दस दुकान संचालकों के विरुद्ध चालान की कार्रवाई की।

ये भी पढिए : उत्तराखंड परिवहन निगम : देहरादून से अयोध्या के लिए शुरू हुई सीधी बस सेवा..

कमिश्नर को मोबाइल टावर लगाने में मिली गड़बड़ी | Kumaon Commissioner raided in restaurant

इसके साथ ही कमिश्नर को मोबाइल टावर लगाने में भी गड़बड़ी मिली। इस दौरान ऊर्जा निगम के अफसरों का गड़बड़झाला भी पकड़ा गया। ऊर्जा निगम के आउटसोर्स कर्मचारी, प्राइवेट ठेकेदार के लिए काम करते पकड़े गए। जिस पर कमिश्नर ने तत्काल संबंधित ठेकेदार के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करवाने के निर्देश दिये। कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत मल्लीताल क्षेत्र के निरीक्षण में पहुंचे। वहां गोलघर क्षेत्र में लगे मोबाइल टावर उतारने के लिए कुछ मजदूर कार्य कर रहे थे।

पूछताछ के दौरान काम कर रहे मजदूर ऊर्जा निगम के आउटसोर्स कर्मी निकले। बिना अनुमति सड़क खोद पालिका भूमि में अतिक्रमण करने पर आयुक्त ने लोनिवि के अधिकारियों को संबंधित ठेकेदार के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश दिए। ईओ राहुल आनंद ने बताया कि संबंधित कंपनी को शहर के आठ स्थानों पर टावर लगाने की अनुमति दी गई थी। मल्लीताल क्षेत्र में ओपन एयर थियेटर के समीप टावर लगाने की अनुमति थी, जबकि ठकेदार ने गोलघर चौराहे के समीप टावर खड़ा कर दिया। इस कारण पालिका ने टावर को हटाने के निर्देश दिये थे।

मजदूरों को बाहरी ठेकेदार के लिए कार्य करते पाया | Kumaon Commissioner raided in restaurant

आयुक्त ने ऊर्जा निगम के लिए अनुबंधित मजदूरों को बाहरी ठेकेदार के लिए कार्य करते पाया तो शहर में तैनात आउटसोर्स कर्मियों की पड़ताल की। उन्होंने आउटसोर्स कर्मियों की उपस्थिति रजिस्टर, अनुबंध पत्र व भुगतान संबंधित दस्तावेज तलब कर विभागीय अधिकारियों से जानकारी ली। ठेकेदार द्वारा बनाये गए उपस्थिति रजिस्टर में चार से पांच कर्मचारी ही काम करते मिले, जबकि विभाग के साथ किये गए अनुबंध में 12 कर्मी तैनात करने की शर्त अंकित थी।

इस पर उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुए अधिशासी अभियंता को कार्रवाई के निर्देश दिए। बाजार के निरीक्षण के बाद आयुक्त पालिका कार्यालय होते हुए पंत पार्क की ओर पहुंचे तो वहां रास्ते के दोनों ओर दर्जनों वाहन पार्क मिले। इनमें से कई टैक्सी वाहन भी पार्क थे। काफी देर इंतजार के बाद भी जब वाहन स्वामी मौके पर नहीं पहुंचे तो उन्होंने पार्क में अनाधिकृत रूप से पार्क हो रहे वाहन स्वामियों के विरुद्ध कार्रवाई को लेकर आरटीओ को निर्देशित किया।

ये भी पढिए : पौड़ी: पीएम मोदी बोक्स जनजाति के साथ 15 जनवरी को करेंगे वर्चुअल संवाद, पढिए क्या है खबर..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X