हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

राजनीति: हरीश की छुट्टी, हरीश संभालेंगे पंजाब की कमान, रावत को हाईकमान ने किया कार्यमुक्त..

देहरादून: पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को कांग्रेस पार्टी ने पंजाब प्रभारी के पद से हटा दिया है। हरीश रावत कई दिनों से पंजाब के प्रभाव से मुक्ति चाह रहे थे। उनका तर्क था कि उत्तराखंड में चुनाव है, उनका फोकस उत्तराखंड पर होना चाहिए। अब कांग्रेस ने राजस्थान के कैबिनेट मंत्री हरीश चौधरी को पंजाब और चंडीगढ़ के लिए अपना नया प्रभारी नियुक्त किया है। वह उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की जगह पंजाब का प्रभार देखेंगे। रावत को आखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव एवं पंजाब प्रभारी पद की जिम्मेदारी से मुक्त किया है। उन्हें कांग्रेस कार्य समिति का सदस्य बनाये रखा गया है।

यह भी पढ़ें: DCB ने किसानों को बांटे 0% ब्याज पर 28 लाख के ऋण, विनीता रावत ने चेक किसानों को सौंपे..

कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल की ओर से जारी बयान के मुताबिक पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने हरीश चौधरी की नियुक्ति की। वेणुगोपाल ने यह भी कहा कि पार्टी महासचिव के तौर हरीश रावत के योगदान की सराहना करते हैं। पंजाब कांग्रेस में पिछले कई महीनों से चल रही उठापटक की पृष्ठभूमि में हरीश रावत ने पिछले दिनों कांग्रेस आलाकमान से आग्रह किया था कि उन्हें पंजाब प्रभारी की जिम्मेदारी से मुक्त किया जाए। उनकी दलील थी कि वह अपने उत्तराखंड में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव पर ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं।

यह भी पढ़ें: विधायक निधि खर्च करने में कई विधायक फिसड्डी साबित, जानें कौन?

पंजाब कांग्रेस के प्रभारी पद से मुक्त होने के बाद हरीश रावत ने लिखा कि पंजाब के दोस्तों विशेषत: कांग्रेसजन, मैं आपके प्यार और समर्थन को नहीं भूल सकता। मैं आपसे अलग नहीं हूं। यह पार्टी के प्रति कर्तव्य की पुकार है कि मैं एक स्थान विशेषत: उत्तराखंड में पूरी शक्ति लगाऊं। मेरे दिल में हमेशा पंजाब रहेगा। यूं भी मेरे दिल में एक पंजाब स्थाई रूप से बसता है, जहां से प्रतिदिन पंजाबियत की खुशबू मेरे मन को आनंदित करती है। दिवाली आ रही है, गुरु पर्व आ रहा है, आप सबको ढेर सारी बधाइयां।

यह भी पढ़ें: अनियंत्रित कार खाई में गिरी, दंपति बच्चों सहित 6 की मौत..

हरीश रावत ने दो दिन पहले फेसबुक पोस्ट में लिखा था कि पंजाब और उत्तराखंड में चुनाव आने वाले हैं। ऐसे में दोनों जगहों पर उन्हें पूरा समय देना होगा। ऐसे में उनके लिए परिस्थितियां कठिन होती जा रही हैं। एक तरफ जन्मभूमि के लिए मेरा कर्तव्य है और दूसरी तरफ कर्म भूमि पंजाब के लिए मेरी सेवाएं हैं, स्थितियां जटिलत्तर होती जा रही हैं. उन्होंने कहा, जैसे जैसे चुनाव आएंगे, दोनों जगह व्यक्ति को पूर्ण समय देना पड़ेगा।

यह भी पढ़ें: सीएम धामी ने दिए निर्देश, प्रभारी मंत्री अपने जिलों में करें आपदा राहत कार्यों का स्थलीय निरीक्षण..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X