हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

उत्तराखंड समेत दिल्ली-NCR में आया तीव्र भूकंप, यहां 6 लोगों की मौत..

दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे उत्तर भारत में मंगलवार की देर रात भूकंप के तेज झटके लगे। दो बार में तेज झटके लगने से कई कॉलोनियों व मोहल्लो में लोग घरों से बाहर निकल आए। भूकंप के झटके देर रात 1.58 बजे महसूस किए गए। कुछ रुककर दो बार झटके लगने से गहरी नींद में सोए लोग भी जाग गए और घरों से बाहर निकल आए। बुरी तरह घबराए लोगों में से कुछ ने अपने घरों और दीवारों को चेक करना शुरू कर दिया। जानकारों के मुताबिक भूकंप की तीव्रता 6.3 से अधिक थी। दिल्ली-एनसीआर के अलावा उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के आसपास के जिलों में भी लोगों ने भूकंप के झटके महसूस किए। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के मुताबिक इसका केंद्र नेपाल के मणिपुर में जमीन से 10 किलोमीटर नीचे था। वहीं नेपाल के डोटी जिले में एक घर गिरने से 6 लोगों की मौत हुई है। बता दें कि उत्तर भारत में महज पांच घंटे के भीतर दूसरी बार भूकंप के झटके महसूस हुए हैं। इससे पहले मंगलवार के में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। उसकी तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 4.9 मापी गई थी। वहीं नेपाल में यह मंगलवार को 24 घंटे के भीतर तीसरा भूकंप का झटका रहा। बता दें कि भूकंप के झटके यूपी के लखनऊ, मुरादाबाद, मेरठ बरेली आदि शहरों में भी महसूस किए गए। वहीं एनसीआर के फरीदाबाद, गुरुग्राम, ग्रेटर नोएडा में भी झटके महसूस हुए।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड के लाखों कार्मिकों को मुख्यमंत्री ने दी बड़ी सौगात, पढ़ें आदेश..

वहीं उत्तराखंड में देर रात को आए भूकंप को लेकर के सरकारी मशीनरी देर रात से ही हरकत में आ गई है। चंपावत जनपद के अन्तर्गत प्रातः 1:57 बजे भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। इस भूकंप के आने के बाद पुन: सुबह लगभग 6:27 बजे जनपद पिथौरागढ़ के क्षेत्रांतर्गत भूकंप के झटके महसूस किए गए। सभी थानों चौकियों व तहसीलों में सम्पर्क किया गया जनपद आपदा प्रबंधन केंद्र के अनुसार वर्तमान में भूकंप से कहीं से भी किसी प्रकार की क्षति की सूचना प्राप्त नहीं हुई है। भूकंप के झटके महसूस होने के तुरंत बाद चंपावत जनपद के प्रभारी जिलाधिकारी/अपर जिलाधिकारी हेमंत कुमार वर्मा द्वारा जिला आपदा परिचालन केन्द्र चंपावत से तत्काल जानकारी लेने के साथ ही सभी उपजिलाधिकारियों, तहसीलदारों के अतिरिक्त राजस्व उपनिरीक्षकों एवं ग्राम विकास एवं ग्राम पंचायत अधिकारियों को तत्काल अपने अपने क्षेत्र से संपर्क करते हुए क्षति की सूचना प्राप्त करने के निर्देश दिए हैं। जिनके माध्यम से नुकसान की सूचना ली जा रही है। वर्तमान तक प्राप्त सूचना अनुसार जिले में किसी भी प्रकार के नुकसान की सूचना प्राप्त नहीं है। सभी क्षेत्रों से सूचना ली जा रही है। सभी को अलर्ट रखा गया है। जिला आपदा परिचालन केन्द्र से प्राप्त सूचनानुसार भूकंप का परिमाण (तीव्रता) रिक्टर पैमाने में 5.7  और गहराई 10 किलोमीटर तथा अभिकेंद्र पड़ोसी देश नेपाल था।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड की बेटी को नहीं मिला इंसाफ। लोगों में आक्रोश, सोशल मीडिया पर आ रही तीखी प्रकिया..


Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X