हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

बड़ा अपडेट: हेलीकॉप्टर क्रैश में 13 सवारों की मौत की हुई पुष्टि, DNA टेस्ट से होगी शवों की पहचान..

तमिलनाडु के कुन्नूर में सेना का हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया है, जिसमें सीडीएस जनरल बिपिन रावत भी सवार थे। दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद जनरल रावत को अस्पताल ले जाया गया है। दुर्घटनाग्रस्त हेलिकॉप्टर में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी, रक्षा सहायक, सुरक्षा कमांडो और वायुसेना के पायलट समेत कुल 14 लोग सवार थे। फिलहाल बिपिन रावत की हालत के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

इस दुर्घटना में शामिल 14 में से 13 लोगों की मौत की पुष्टि हो गई है। डीएनए जांच से होगी शवों की पहचान की जाएगी। समाचार एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी है। अब तक 11 लोगों के शव बरामद कर लिए गए हैं। मृतकों के शव इतनी बुरी तरह से जल गए हैं, उनकी पहचान कर पाना संभव नहीं है। ऐसे में डीएनए टेस्टिंग के जरिए ही शवों की पहचान हो सकेगी। हादसे के जो विजुअल सामने आए हैं, उनमें हेलिकॉप्टर पूरी तरह क्षतिग्रस्त नजर आ रहा है और उसमें आग लगी हुई है।

यह भी पढ़ें: अपडेट खबर: सीडीएस बिपिन रावत का हेलीकॉप्टर क्रैश, हादसे में 11 लोगों के शव बरामद..

सुरक्षा पर कैबिनेट कमेटी की बैठक थोड़ी देर में
बताया जा रहा है कि शाम साढ़े छह बजे सुरक्षा पर कैबिनेट कमेटी की बैठक होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसकी अध्यक्षता करेंगे।
CDS बिपिन रावत अस्पताल में भर्ती कराए गए, नाजुक बनी हुई है हालत
ताजा रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि घटनास्थल से सीडीएस जनरल बिपिन रावत को स्थानीय अस्पताल ले जाया गया है, जहां उनकी हालत नाजुक बताई जा रही है। जनरल बिपिन रावत करीब छह साल पहले भी एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में बाल-बाल बचे थे। रावत 3 फरवरी 2015 को नागालैंड के दीमापुर में दुर्घटनाग्रस्त हुए चीता हेलीकॉप्टर में सवार थे। वह उस समय लेफ्टिनेंट जनरल थे।

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर: सीडीएस जनरल बिपिन रावत का हेलीकॉप्टर क्रैश, 4 की मौत। पीएम ने बुलाई आपात बैठक..

तमिलनाडु के सीएम एमके स्टालिन हुए घटनास्थल रवाना, IAF चीफ भी निकले
तमिलनाडु के सीएम एमके स्टालिन हेलिकॉप्टर क्रैश हादसे वाली जगह के लिए निकले हैं। वह मौके पर पहुंचकर हालात का जायजा लेंगे। इस बीच एयरफोर्स के चीफ वीआर चौधरी भी दिल्ली से रवाना हुए हैं।
गौरतलब है कि 63 वर्षीय जनरल रावत ने जनवरी  2019 में देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्‍टाफ का कार्यभार संभाला। यह पद देश की तीनों सेनाओं, थल सेना, नौसेना और वायुसेना को एकीकृत करने के उद्देश्‍य से सृजित किया गया बाद में उन्‍हे नवनिर्मित, डिपार्टमेंट आफ मिलिट्री अफेयर्स का भी प्रमुख नियुक्‍त किया गया।

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X