हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

ओंकारेश्वर से 2 मई को रवाना होगी बाबा केदार की पंचमुखी चल विग्रह उत्सव डोली, कल भैरव पूजन के साथ होगा यात्रा का आगाज..

Baba Kedar Doli will leave from Omkareshwar on May 2 Hillvani News Uttarakhand

Baba Kedar Doli will leave from Omkareshwar on May 2 Hillvani News Uttarakhand

ऊखीमठ। लक्ष्मण नेगीः पर्वतराज हिमालय की गोद में बसे भगवान केदारनाथ के कपाट खोलने की प्रक्रिया रविवार को शीतकालीन गद्दी स्थल ओंकारेश्वर मन्दिर में भैरव पूजन के साथ शुरू होगी। वहीं 2 मई को भगवान केदारनाथ की पंचमुखी चल विग्रह उत्सव डोली के शीतकालीन गद्दी स्थल ओकारेश्वर मन्दिर से धाम रवाना होने की तैयारियां जोरों पर हैं। विगत दो वर्षों से वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के कारण आम जनता को डोली विदा करने पर अंकुश लगने के कारण स्थानीय श्रद्धालुओं में भारी उत्साह बना हुआ है तथा डोली के साथ ऊखीमठ से केदारनाथ धाम तक पद यात्रा करने वाले भक्तों का आवागमन शुरू हो गया है। वहीं दूसरी ओर मन्दिर समिति के एडवास दल द्वारा केदारनाथ में आगामी 6 मई से शुरू होने वाली यात्रा व्यवस्थाओं की तैयारियां जोरों पर है।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंडः राज्यसभा सीट के लिए कौन होगा भाजपा उम्मीदवार? दौड़ में ये शामिल, जुलाई में खाली हो रही सीट..

जानकारी देते हुए प्रभारी कार्यधिकारी आर.सी. तिवारी ने बताया कि रविवार केदारनाथ यात्रा का आगाज भैरव पूजन के साथ किया जायेगा। उन्होंने बताया कि रविवार देर सांय भगवान केदारनाथ के शीतकालीन गद्दी स्थल ओकारेश्वर मन्दिर में विद्धान आचार्यो द्वारा भैरवनाथ की पूजा विधि – विधान से की जायेगी। बताया कि भैरवनाथ को केदार पुरी का क्षेत्र रक्षक माना जाता है तथा लोक मान्यताओं के अनुसार भगवान केदारनाथ के शीतकालीन गद्दी स्थल ओकारेश्वर मन्दिर में भैरव पूजन के बाद भैरवनाथ केदार पुरी के लिए रवाना हो जाते हैं। कार्यालय अधीक्षक राजकुमार नौटियाल ने बताया कि 2 मई को भगवान केदारनाथ की पंचमुखी चल विग्रह उत्सव डोली के ऊखीमठ से धाम रवाना होने की सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी है। उन्होंने बताया कि 2 मई को भगवान केदारनाथ की पंचमुखी चल विग्रह उत्सव डोली ब्राह्मणों की वेद ऋचाओं, आर्मी व स्थानीय वाध्य यंत्रों व श्रद्धालुओं की जयकारों के साथ ऊखीमठ से धाम के लिए रवाना होगी तथा विभिन्न यात्रा पडावो पर भक्तों को आशीष देते हुए प्रथम रात्रि प्रवास के लिए विश्वनाथ मन्दिर पहुंचेगी।

यह भी पढ़ेंः आखिर क्यों? फिर ट्रोल हो रहे हैं अक्षय कुमार, लोगों ने उड़ाया खिलाड़ी कुमार का मजाक…

प्रभारी कार्यधिकारी आर.सी. तिवारी बताया कि 3 मई को भगवान केदारनाथ की पंचमुखी चल विग्रह उत्सव डोली फाटा 4 मई को गौरी माता मन्दिर गौरीकुण्ड तथा 5 मई को केदारनाथ धाम पहुंचेगी तथा 6 मई को प्रातः 6 बजकर 25 मिनट पर भगवान केदारनाथ के कपाट जय केदार ,जय शंकर के उदघोषो के साथ भक्तों के दर्शनार्थ खोल दिये जायेगें। मन्दिर सुपरवाइजर यदुवीर पुष्वाण ने बताया कि मन्दिर समिति के एडवास दल द्वारा केदारनाथ धाम में आगामी 6 मई से शुरू होने वाली यात्रा की सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी है। बताया कि एडवास दल द्वारा मुख्य मन्दिर सहित सहायक मन्दिरों मे रंग रोबन का कार्य पूर्ण कर लिया गया है तथा विधुत व पेयजल आपूर्ति सुचारू करने का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है। उन्होंने बताया कि केदारनाथ धाम में मौसम के बार – बार करवट लेने से यात्रा व्यवस्थाओं को सुचारू करने में भारी परेशानियों का सामना करना तो पड़ रहा है मगर आगामी तीन मई तक सभी यात्रा व्यवस्थायें पूरी कर ली जायेगी।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंड आने वाले यात्रियों व श्रद्धालुओं के लिए महत्वपूर्ण खबर, नई गाइडलाइन जारी…

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X