हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

उत्तराखंड में अगले चार दिन भारी बारिश का यलो अलर्ट। चारधाम यात्रा बाधित, यहां मलबे में दबे वाहन..

0
Forecast of the Meteorological Department in Uttarakhand. Hillvani News

Forecast of the Meteorological Department in Uttarakhand. Hillvani News

प्रदेशभर में सोमवार से अगले चार दिन तक भारी बारिश की संभावना है। मौसम विभाग ने 27 जुलाई तक बारिश का यलो अलर्ट जारी किया है। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया, प्रदेश के सभी जिलों के अधिकतर इलाकों में भारी बारिश के आसार हैं। संवेदनशील इलाकों में भूस्खलन होने से राजमार्ग और संपर्क मार्ग बंद हो सकते हैं। वहीं, बीते 24 घंटों में अल्मोड़ा में सबसे अधिक 24 एमएम बारिश हुई, जो सामान्य से 137 फीसदी अधिक है। सबसे कम बारिश ऊधमसिंह नगर में हुई। जबकि, पूरे प्रदेश में 12.5 एमएम बारिश हुई।

यह भी पढ़ेंः महापंचायतः डोईवाला में बनने जा रही टाउनशिप का लोगों ने किया विरोध, कहा- एक इंच भी नहीं देंगे जमीन…

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार सोमवार को प्रदेश के ज्यादातर क्षेत्रों में आंशिक बादल छाये रह सकते हैं। देहरादून, चमोली, नैनीताल, बागेश्वर, चंपावत और ऊधमसिंह नगर में गरज-चमक के साथ तीव्र वर्षा होने को लेकर यलो अलर्ट जारी किया गया है। अन्य जिलों में भी कहीं-कहीं तेज बौछारों के एक से दो दौर हो सकते हैं। रविवार के बाद सोमवार को भी सुबह से धूप और बादलों के बीच उमस ने बेहाल किया। मौसम विभाग ने आज भी दून में कहीं-कहीं भारी वर्षा होने की आशंका जताई है। तापमान सामान्य से अधिक बना रह सकता है।

यह भी पढ़ेंः टिहरी झील के किनारे जान जोखिम में डालकर ग्रामीणों का धरना शुरू, उग्र आंदोलन की दी चेतावनी। जानें क्यों?

बदरीनाथ-केदारनाथ हाईवे कई जगह बंद
रुद्रप्रयाग जनपद में सोमवार सुबह तेज बारिश हुई। जिस कारण बदरीनाथ हाईवे सिरोबगड़ एवं जवाल्पा पैलेस के समीप अवरूद्ध हो गया है। केदारनाथ हाईवे भटवाड़ी सैण, चंद्रापुरी के समीप, बांसवाड़ा के पास यातायात हेतु अवरुद्ध चल रहा है। मार्ग खुलवाने की कार्यवाही गतिमान है। लगातार हो रही बारिश के चलते अलकनंदा और मंदाकिनी नदी का जलस्तर खतरे के निशान के पास पहुंच गया है। चमोली में रुद्रप्रयाग-कर्णप्रयाग के मध्य राजमार्ग पर कमेडा में मलबा आने से भारी नुकसान हुआ है। कमेडा में 50 मीटर हाईवे भूस्खलन ने साफ हो गया है। गौचर भट्टनगर में भी रेलवे की पार्किंग का पुस्ता टूटने से साकेतनगर में पार्किंग में खड़े पांच वाहन मलबे में दब गए हैं। बदरीनाथ हाईवे छिनका में बंद पड़ा हुआ है।

यह भी पढ़ेंः टिहरी झील में नहाते समय डूबा नौ साल का बच्चा, तलाश जारी..

गंगोत्री-यमुनोत्री हाईवे भी बंद
उत्तरकाशी जिला मुख्यालय सहित आसपास के क्षेत्रों में लगातार वर्षा हो रही है। वर्षा के कारण जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग शुक्रवार की रात से नहीं खुला है। राजमार्ग डाबरकोट और अन्य स्थानों पर अवरुद्ध है। गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर भी कई स्थानों पर पत्थर और मलबा आया है। वाहनों की आवाजाही जोखिम में हो रही है। जिले के 50 से अधिक संपर्क मार्ग अवरुद्ध हैं।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंड क्राइमः प्रेमी को सांप से कटवाने वाली जहरीली हसीना गिरफ्तार, उगलेगी सभी राज..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X