हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

रोष: डायट डीएलएड संघ ने किया ऐलान, सोमवार से धरना होगा ओर उग्र..

देहरादून: प्रारम्भिक शिक्षा निदेशालय नन्नूरखेरा में विगत माह 6 अगस्त से डीएलएड प्रशिक्षित अपनी नियुक्ति की मांग को लेकर में धरने पर बैठें हैं। धरनारत डायट डीएलएड प्रशिक्षितों आज भी अपनी मांग को पूरा होने का इंतजार कर रहे हैं। 37 दिनों से ज्यादा समय से धरनारत डायट प्रशिक्षितों को अभी भी विभाग की ओर से कोई राहत देखने को नहीं मिल रही है। बार बार विभागीय अधिकारियों से मिलने के बाद भी कोई कार्यवाही होती नहीं दिख रही। आपको बता दें कि विगत 1 सितंबर को कोर्ट से भर्ती पर लगे स्टे हटने के बाद शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने 20 दिनों के अंदर प्रशिक्षितों को नियुक्ति देने का वादा किया था। लेकिन प्राप्त जानकारी के अनुसार यही लगता है कि विभाग मंत्री जी के वादे की हर प्रकार से नाफ़रमानी कर रहा है और फ़ाइल सचिवालय से आगे नहीं बढ़ पा रही है। इससे डायट डीएलएड प्रशिक्षितों में बहुत रोष है।

Read More- उत्तराखंड: सुबह सुबह डोली धरती, कई जनपदों में भूकंप के झटके किए गए महसूस..

डायट डीएलएड संगठन की प्रदेश उपाध्यक्षा मन्नू सरोज ने बताया कि विगत 1 सितम्बर को माननीय उच्च न्यायालय के फैसले जिसमें उच्च न्यायालय ने सरकार को प्राथमिक शिक्षक भर्ती को पुनः शुरू करने के आदेश दिए थे। लेकिन  10 दिन गुजरने के बाद भी इस मामले में कार्यवाही बहुत धीमी गति से चल रही है। हमारी शासन प्रशासन से मांग है की विभाग माननीय उच्च न्यायालय के फैसले का सम्मान करते हुए जल्द प्राथमिक शिक्षक भर्ती को पूर्ण करे, अन्यथा डायट डीएलएड संगठन सोमवार से अपने धरने को एक बार फिर उग्र करेगा और ऐसे मे किसी भी परिस्थिति के लिए पूर्ण रूप से शिक्षा विभाग और शासन जिम्मेदार होगा। जो पिछले 10 दिनों से शिक्षक भर्ती से सम्बंधित पत्राचार का कार्य नहीं कर रहा है जिससे भर्ती प्रक्रिया में दिनोंदिन ओर बिलम्ब होता जा रहा है।

Read More- कुमाऊं: ‘हिमालय का महत्व एवं हमारी जिम्मेदारियां’ कार्यक्रम में कई युवा हुए सम्मानित..

देहरादून डायट से ओर काशीपुर से आई प्रशिक्षित गुंजन रावत ने बताया कि 1 सितंबर को माननीय उच्च न्यायालय का फैसला आने के बाद माननीय शिक्षा मंत्री ने डायट डीएलएड प्रशिक्षितों को संबोधित करते हुए कहा था कि 20 सितम्बर से पहले प्राथमिक शिक्षक भर्ती को पूर्ण कर लिया जाएगा। लेकिन 10 दिन बीत जाने के बाद भी अभी तक इस संबंध में कोई आवश्यक कार्यवाही नहीं हुई है और ऐसे में माननीय शिक्षा मंत्री जी के 20 दिनों के अंदर प्राथमिक शिक्षक भर्ती को पूर्ण करने के दावे अब धुंधले प्रतीत हो रहे हैं। अब डायट डीएलएड प्रशिक्षितों का सब्र का बांध टूटता नजर आ रहा है। उन्होंने आगे बताया कि माननीय शिक्षा मंत्री ने पुनः विगत शुक्रवार को मीडिया के समक्ष बयान दिया है कि जल्द ही भर्ती को पूर्ण कर लिया जाएगा और डायट डीएलएड प्रशिक्षितों को नियुक्ति प्रदान कर दी जाएगी।

Read More- उत्तराखंड: मौसम विभाग ने किया ऑरेंज और येलो अलर्ट जारी, भारी बारिश की चेतावनी..

सीमांत जिले पिथौरागढ़ से आये प्रशिक्षित जितेंद्र ने कहा कि डायट डीएलएड संघ पिछले माह 6 अगस्त से लगातार प्राथमिक शिक्षक भर्ती को पूर्ण करने और अपनी नियुक्ति की मांग को लेकर लगातार संघर्षरत है लेकिन शासन स्तर पर हो या विभागीय स्तर, हर स्तर पर काम बहुत धीमी गति से चल रहा है। ऐसे में प्राथमिक शिक्षक भर्ती कब पूर्ण होगी इसका अंदाजा लगाना मुश्किल है। अतः हम माननीय शिक्षा मंत्री जी से एक ही मांग करते हैं कि वे संबंधित अधिकारियों को जल्द से जल्द आवश्यक कार्यवाही करने हेतु निर्देशित करें। जिससे प्राथमिक शिक्षक भर्ती पूर्ण हो और डायट डीएलएड प्रशिक्षितों को शीघ्र नियुक्ति मिल सके। धरने में आज हिमांशु जोशी, शुभम पंत, गौरव रावत, दीपक बिष्ट, प्रकाश दानू, नवीन कण्डीयाल, अनूप बिष्ट, मुकेश चौहान, दीक्षा राणा, मन्नू सरोज, प्रकाश रानी, स्वाति शर्मा, गुंजन रावत, मनीषा चौहान, चौहान, ब्रिजमोहन, अजय, निशांत, भूपेंद्र, विजय, मनोज जोशी, उपेंद्र, शुभम शाह, मुकेश बोहरा, देवेंद्र कोरंगा, संदीप सागर, पंकज डंगवाल, राकेश सिंह राणा, मदन फर्त्याल, गौरव यादव, राजेन्द्र भट्ट, दिव्या, दीपक रावत, मनोज राणा आदि शामिल रहे।

Read More- पहाड़ का हरा सोना: बांज सबसे उपयोगी वृक्ष क्यों है? खत्म हो रहे बांज के जंगल ..

Read More- बोलीभाषा: 13 लोकभाषाओं का प्रदेश है उत्तराखंड,  जानें अपनी बोलीभाषा के बारे में..

Read More- साहस: इस शख्स ने 90 साल पहले तोड़ा था घाटी का गुरूर, आज है तोताघाटी नाम से मशहूर..

Read More- पहाड़ी फल: औषधीय गुणों से भरपूर है घिंगारू, जानें इसके औषधीय उपयोग..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X