Uttarakhand: दस जुलाई को होंगे उपचुनाव! यह सीट कांग्रेस के लिए बनी चुनौती, ढूंढ रही दमदार प्रत्याशी..

0
Hillvani-Congress-Uttarakhand

Hillvani-Congress-Uttarakhand

लोकसभा चुनाव के खत्म होती हीं चुनाव आयोग ने 7 राज्यों की 13 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है। जारी की गई आदेश के मुताबिक बिहार, बंगाल, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब और हिमाचल में चुनाव होना है। जिसके लिए 10 जुलाई को मतदान होना तय किया गया है। वहीं नामांकन फार्म भरने की आखिरी तारीख 21 जून रखी गई है। वहीं स्क्रूटनी 24 जून तक की जाएगी। वहीं अपने नाम को वापस लेने के लिए 26 जून तक का समय दिया जाएगा। जिसके बाद 10 जुलाई को मतदान और 13 जुलाई को नतीजे जारी कर दिए जाएंगे। उत्तराखंड में बद्रीनाथ विधानसभा सीट (चमोली) और मंगलौर विधानसभा सीट (हरिद्वार) में उप चुनाव होने हैं। कार्यक्रम घोषित कर दिया है। वहीं आपको बता दें कि बदरीनाथ के कांग्रेस विधायक राजेंद्र भंडारी ने लोकसभा चुनाव से ठीक पहले इस्तीफा दे दिया था। वह भाजपा में शामिल हो गए थे। इसके चलते बदरीनाथ विधानसभा खाली हो गई थी। मंगलौर के बसपा विधायक हाजी सरवत करीम अंसारी का निधन होने के बाद से यह सीट खाली है।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंड में सड़क सुरक्षा पर सख्त कदम.. नियम जान लीजिए वरना पुलिस ले लेगी खबर..

उत्तराखंड के सीमांत चमोली जिले की बद्रीनाथ विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए कांग्रेस को दमदार प्रत्याशी की तलाश है। पार्टी अपनी इस सीट को वापस पाने के लिए प्रत्याशी चयन में जातीय और स्थानीय समीकरण को केंद्र में रख रही है, ताकि भाजपा को कठिनाइयां बढ़ाई जा सकें। वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव में बदरीनाथ सीट पर कब्जा जमाने में सफल रही कांग्रेस को भाजपा ने गहरे घाव देते हुए लोकसभा चुनाव के अवसर पर पार्टी के विधायक राजेंद्र भंडारी को अपने पक्ष में कर लिया। भंडारी के त्यागपत्र देने से रिक्त हुई सीट पर 10 जुलाई को उपचुनाव होंगे।

यह भी पढ़ेंः भीषण गर्मी के बीच Heat Stroke का बढ़ा खतरा… इन संकेतों को भूलकर भी न करें नजरअंदाज…

वहीं भाजपा की ओर से पूर्व विधायक राजेंद्र भंडारी ही इस सीट पर उपचुनाव में दावेदारी करेंगे। यही कारण है कि कांग्रेस बदरीनाथ विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव में भाजपा के दांत खट्टे करना चाहती है। इसे ध्यान में रखकर ऐसे प्रत्याशी की तलाश की जा रही है, जो भाजपा और पूर्व विधायक राजेंद्र भंडारी को कड़ी चुनौती प्रस्तुत कर सके। इसे ध्यान में रखकर जातीय समीकरणों को साधने पर पार्टी का जोर है। पार्टी की चमोली जिला इकाई और क्षेत्रीय नेताओं को इस कार्य पर लगाया गया है। कांग्रेस मजबूत प्रत्याशी के चयन के साथ ही इस विधानसभा क्षेत्र में बूथ स्तर पर अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए पूरी शक्ति से जुटी है।

यह भी पढ़ेंः क्‍या है Digital Arrest Scam? बढ़ता जा रहा खतरा.. जिससे खाली हो रहे बैंक खाते, ऐसे रहें सतर्क..

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा पार्टी के अन्य रणनीतिकारों के साथ क्षेत्र में डेरा डाले हुए हैं। लोकसभा चुनाव में इस विधानसभा क्षेत्र में कई बूथों पर कांग्रेस ने भाजपा से अधिक मत लेकर चौंकाया है। चमोली जिला कांग्रेस इकाई के साथ ही स्थानीय क्षत्रपों के सहयोग से दमदार प्रत्याशी पर मंथन किया जा रहा है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने कहा कि एक-दो दिन में उपचुनाव लड़ने के संभावित दावेदारों का पैनल तैयार किया जाएगा। इसे पार्टी हाईकमान को भेजा जाएगा, ताकि प्रत्याशी का चयन शीघ्र हो सके। समय पर प्रत्याशी घोषित होने से प्रचार से लेकर अन्य चुनाव तैयारी करने के लिए पार्टी को पर्याप्त समय मिल सकेगा।

यह भी पढ़ेंः सावधान.. बिगड़ सकती है आपकी सेहत.. आम पकाने में इस्तेमाल किया जा रहा खतरनाक रसायन..

4/5 - (1 vote)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X