हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

पहलः तुंगनाथ घाटी के व्यापारियों व वन विभाग ने यात्रा पड़ावों पर चलाया स्वच्छता अभियान, लिया संकल्प..

Traders and Forest Department launched cleanliness campaign at travel stops. Hillvani News

Traders and Forest Department launched cleanliness campaign at travel stops. Hillvani News

तुंगनाथ घाटी के विभिन्न यात्रा पड़ावों पर व्यवसाय कर रहे व्यापारियों व वन विभाग के सयुक्त तत्वावधान में तुंगनाथ घाटी के विभिन्न यात्रा पड़ावों पर स्वच्छता अभियान चलाकर पर्यावरण संरक्षण व संवर्धन का संकल्प लिया गया तथा कई कुन्तल कूड़ा एकत्रित कर नष्ट किया गया, साथ तुंगनाथ घाटी आने वाले तीर्थ यात्रियों व सैलानियों को तुंगनाथ घाटी की सुन्दरता का कायम रखने का आवाहन किया गया। जानकारी देते हुए व्यापार संघ अध्यक्ष बनियाकुण्ड सतीश मैठाणी ने बताया कि तुंगनाथ घाटी के विभिन्न यात्रा पड़ावों पर व्यवसाय कर रहे व्यापारियों व वन विभाग द्वारा बनियाकुंड, पंगेर, दुगलविट्टा, पटवाड़ा व मक्कू बैण्ड सहित विभिन्न यात्रा पड़ावों पर बृहद स्तर पर स्वच्छता अभियान चलाया गया। जिसमें सभी व्यापारियों व वन विभाग के अधिकारियों, कर्मचारियों ने पूर्ण सहयोग किया। उन्होंने बताया कि सभी यात्रा पड़ावों पर स्वच्छता अभियान चलाने में जिला पंचायत सदस्य परकण्डी रीना बिष्ट का पूर्ण योगदान रहा, क्योकि उनके प्रयासों से एकत्रित कूडा़ निस्तारण की पहल की गयी। व्यापार संघ संरक्षक मोहन मैठाणी ने बताया कि तुंगनाथ घाटी आने वाले तीर्थ यात्रियों व सैलानियों को भी व्यापार संघ द्वारा जागरूक किया जा रहा है जिससे तुंगनाथ घाटी की सुन्दरता सुरक्षित रह सके।

यह भी पढ़ेंः Uttarakhand To Delhi: यात्रीगण कृपया ध्यान दें! 1 अक्तूबर से बस यात्रियों की मुश्किलें बढ़ना तय, जानें क्यों?

विशन पुण्डीर ने बताया कि आने वाले समय में भी सभी व्यापारियों द्वारा समय-समय पर वन विभाग के सहयोग से स्वच्छता अभियान चलाया जायेगा। उपाध्यक्ष सुमन चौहान ने कहा कि तुंगनाथ घाटी की विश्व भर में अपनी अलग पहचान है इसलिए तुंगनाथ घाटी की सुन्दरता को यथावत रखने के लिए सामूहिक पहल होनी चाहिए। अन्त में समस्त व्यापारियों द्वारा निर्णय लिया गया है कि प्रत्येक माह की 30 तारीक को पूरे वन पंचायत क्षेत्र के अन्तर्गत स्वच्छता अभियान चलाया जायेगा जिसमें सभी व्यापारियों की सहभागिता अनिवार्य होगी। साथ ही यह भी निर्णय लिया गया कि तहसील प्रशासन व रिसाइकल संस्था की पहल पर सभी व्यापारियों को पेय पदार्थों पर क्यूआर कोड अनिवार्य रुप से लागू करना होगा जिससे तुंगनाथ घाटी को प्लास्टिक से मुक्त करने में आसानी हो सके। इस मौके पर व्यापार संघ कोषाध्यक्ष विनोद नेगी, वन आरक्षी तेजपाल सिंह रावत, उमेद राणा, प्रमोद रावत, मनोज नेगी, बीरेन्द्र नेगी, शिशुपाल पुण्डीर, देवेन्द्र नेगी, आशीष रावत, कार्तिक चौहान, दिलवर सिंह चौहान, भुवन मैठाणी, संजय नेगी सहित विभिन्न यात्रा पड़ावों के व्यापारी मौजूद थे।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंड के उपभोक्ताओं को लगेगा महंगी बिजली झटका। जानें कितना आएगा बिल, कब तक होगी वसूली..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X