हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

दहशत: आंगन में बैठे दंपति पर गुलदार का हमला, गांव में फैली दहशत..

पौड़ी गढ़वाल: गांवों में रह रहे परिवार गुलदार के आतंक के साए में जीवन बसर करने को मजबूर हैं। यहां आए दिन गुलदार की आवाजाही लगी रहती है। कभी जंगलों की सीमा में रहने वाले गुलदार अब गांवों में घुसकर लोगों पर हमला कर रहे हैं। ताजा घटना बिडाला गांव की है, जहां गुलदार ने घर के आंगन में बैठे दंपति पर झपट्टा मार दिया। गनीमत रही की पति-पत्नी किसी तरह मौके से भागकर कमरे के भीतर पहुंच गए। जिससे उनकी जान बच गई। बिड़ाला गांव चौबट्टाखाल तहसील में स्थित है, जहां इन दिनों कई गांवों में गुलदार की दहशत पसरी है। वन विभाग ने तीन गांवों में पिंजरे भी लगाए हैं, लेकिन अब तक एक भी गुलदार पकड़ा नहीं गया।

Read Also- क्राइम: पति ने की पहली पत्नी की हत्या, पाटल से किया गर्दन पर वार..

गुरुवार रात बिडाला गांव में गुलदार के हमले की घटना हुई। गांव में रहने वाले मुकेश बिडालिया अपनी पत्नी अनुराधा के साथ देर शाम घर के आंगन में बैठे थे। रात करीब 8 बजे अचानक घर की छत से गुलदार ने आंगन में छलांग मारी और वहां बैठे दंपति पर झपट पड़ा। पति-पत्नी किसी तरह दौड़कर कमरे में पहुंच गए, और शोर मचाया। इसके बाद गुलदार आंगन से कुछ दूर दीवार पर जाकर बैठ गया। इस बीच गांव के अन्य लोग भी मौके पर पहुंच गए और शोर मचाने लगे। लोगों की भीड़ अपनी तरफ आते देख गुलदार वहां से भाग गया।

Read Also- हंगामा: रुड़की में मेयर से भिड़ गए विधायक समर्थक, मेयर पर लगाया यह आरोप..

घटना के बाद से इलाके में दहशत है। बता दें कि बिडाला गांव से सटे गांव इसोटी में भी 12 अगस्त को गुलदार ने सावित्री देवी पर हमला किया था। इसके बाद वन विभाग ने यहां पिंजरा लगा दिया, लेकिन गुलदार अब भी आजाद घूम रहा है। गांववालों के मुताबिक यहां 4-5 गुलदार एक साथ नजर आए हैं। खतरे को देखते हुए वन विभाग ने इसोटी, घरतोली और पांथर गांव में पिंजरे लगाए हुए हैं, लेकिन किसी भी पिंजरे में अब तक एक भी गुलदार कैद नहीं हुआ।

Read Also- विधानसभा चुनाव 2022: उत्तराखंड में सभी 70 सीटों पर चुनाव लड़ेगी सपा..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X