हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

गौरीकुंड फिर हुआ भारी भूस्खलन.. तीन बच्चे मलबे में दबे, दो की मौत। एक की हालत गंभीर..

0
Gaurikund again heavy landslide. Hillvani News

Gaurikund again heavy landslide. Hillvani News

गौरीकुंड में आज सुबह फिर बड़ा हादसा हो गया है। यहां लगभग पांच बजे गौरी गांव में भारी भूस्खलन होने से तीन बच्चे मलबे में दब गए। तीनों बच्चों को मलबे से निकाला गया, जिनमें से दो बच्चों की मौत हो गई। एक बच्चे का उपचार चल रहा है। जानकारी के मुताबिक बुधवार सुबह गौरी गांव में नेपाली मूल के तीन बच्चे भूस्खलन की चपेट में आने से मलबे में दब गए। एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से तीनों बच्चों को मलबे से निकाला गया।

यह भी पढ़ेंः बागेश्वर विधानसभा उपचुनाव का कार्यक्रम हुआ जारी, जानें कब से नामांकन, कब वोटिंग? कब आएगा रिजल्ट?

आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदन सिंह रजवार ने बताया कि इन बच्चों को गौरीकुंड हॉस्पिटल में उपचार के लिए लाया गया। जहां चिकित्सकों ने दो बच्चों को मृत घोषित कर दिया। जबकि एक बच्चे का उपचार चल रहा है। गौरतलब है कि केदारनाथ यात्रा मार्ग के महत्वपूर्ण पड़ाव गौरीकुंड में 3 अगस्त को भी भूस्खलन हुआ था। 3 अगस्त की रात भारी मूसलाधार बारिश के बाद आए भूस्खलन की चपेट में आकर 3 लोगों की मौत हो गई जबकि 20 लोग लापता हैं। इस भूस्खलन में लापता हुए 20 लोगों का अभी तक पता नहीं चल पाया है।

यह भी पढ़ेंः गौरीकुंड में लापता 20 लोगों की तलाश जारी.. हर तरफ मलबे को खंगाल रहे जवान, नहीं मिल रहा कोई निशान..

बता दें कि प्रदेशभर में बुधवार को भारी बारिश होने की आशंका है। मौसम विभाग ने देहरादून सहित पांच जिलों के लिए ऑरेंज और शेष जनपदों के लिए येलो अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के अनुसार देहरादून, टिहरी, पौड़ी, नैनीताल और चंपावत में कहीं-कहीं भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है। इन जनपदों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। वहीं, शेष जनपदों में कहीं-कहीं गर्जना के साथ बिजली चमकने और तीव्र बारिश होने की संभावना है। हरिद्वार, ऊधमसिंह नगर, बागेश्वर, पिथौरागढ़ में भी कहीं-कहीं भारी बारिश की आशंका हैं।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंड में “यू कोट वी पे” फार्मूले के तहत होगी चिकित्सकों की भर्ती, स्वास्थ्य सचिव ने कहा..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X