हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

आयुर्वेदिक इलाज से टूटेंगी नशे की बेड़ियां, उत्तराखंड का ये विवि करेगा इलाज। 10 से 20 रुपए आएगा खर्चा..

Drug addiction will be broken by Ayurvedic treatment. Hillvani News

Drug addiction will be broken by Ayurvedic treatment. Hillvani News

उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय के गुरुकुल कांगड़ी आयुर्वेद परिसर में एक सप्ताह के भीतर नशा मुक्ति एवं रिसर्च सेंटर शुरू कर दिया जाएगा। इस सेंटर में अत्यधिक नशे के आदि लोगों पर रिसर्च कर उनका उपचार आयुर्वेदिक दवाइयों से किया जाएगा। इस सेंटर में नशे को छड़वाने के लिए आयुर्वेदिक पद्धति का प्रयोग किया जाएगा। गुरुकुल आयुर्वेद परिसर के डायरेक्टर प्रो. पंकज शर्मा ने बताया कि गुरुकुल परिसर के अगद तंत्र डिपार्टमेंट में नशा मुक्ति एवं रिसर्च सेंटर एक सप्ताह के भीतर शुरू कर दिया जाएगा। इस विभाग में अत्यधिक नशे के आदि लोगों पर रिसर्च और उनका उपचार आयुर्वेदिक पद्धति से किया जाएगा। साथ ही वह किस प्रकार का नशा लेने और कितनी मात्रा में नशा करने से आदि हुए, इन सब बिंदुओं पर रिसर्च किया जाएगा। नशा मुक्ति एवं रिसर्च सेंटर में ओपीडी भी शुरू की जाएगी। जो सामान्य रूप से नौ बजे से लेकर दो बजे तक खोली जाएगी। जो लोग अत्यधिक नशे के आदि हैं उन्हें इस रिसर्च सेंटर में भर्ती भी कराया जाएगा।

यह भी पढ़ेंः Ankita Murder Case: अंकिता के परिवार को दिया जाएगा 25 लाख का मुआवजा, CM धामी का ऐलान

प्रथम चरण में इस ओपीडी में छह बेड रिजर्व किए गए हैं। आगे जरूरत पड़ने पर बेड की संख्या बढ़ाई भी जा सकेगी। नशा मुक्ति एवं रिसर्च सेंटर में तीन डॉक्टर नियमित रूप से जांच करने का कार्य करते हुए मरीजों की देखभाल और अध्ययन करने का काम करेंगे। नशे के आदि व्यक्ति गुरुकुल आयुर्वेदिक परिसर में उपचार कराना चाहेगा तो उसे 10 रुपये के सरकारी खर्च पर चार दिन की दवाइयां दी जाएगी। यदि किसी व्यक्ति को भर्ती किया जाता है तो उसे 15 दिन के लिए केवल 20 रुपये का शुल्क देना होगा। उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सुनील कुमार जोशी ने बताया कि उत्तराखंड विश्वविद्यालय के गुरुकुल परिसर में नशा मुक्ति एवं रिसर्च सेंटर खोला गया है। जिसका उद्घाटन जल्द कर उसे शुरू कर दिया जाएगा। लोगों में विभिन्न प्रकार के नशे को छुड़वाने और रिसर्च में इस नशा मुक्ति एवं रिसर्च सेंटर की महत्वपूर्ण भूमिका होगी।

यह भी पढ़ेंः राहुल गांधी का RSS, BJP और उत्तराखंड सरकार पर हमला, साक्ष्य नष्ट करने का लगाया आरोप..

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X