हिलवाणी को सहयोग करने के लिए क्लिक करें👇

मुख्यमंत्री धामी ने अधिकारियों को दिए निर्देश, गांव में भी आयोजित होगी कैबिनेट। जानें और बहुत कुछ..

उत्तराखंड के विकास के लिए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी राज्य के विकास के लिए नित नई योजनाओं का शुभारंभ कर रहे है। इस कड़ी में आज उन्होंने गांव के विकास के लिए कई योजनाओं को लेकर अधिकारियों को निर्देश दिए है। बताया जा रहा है कि इन योजनाओं के तहत अब गांव में कैबिनेट बैठक आयोजित की जाएगी। जिसमें गांवों के विकास से संबंधित प्रस्ताव पास किए जाएंगे। मीडिया रिपोर्टस के अनुसार गुरूवार को सीएम धामी ने सचिवालय में पंचायती राज विभाग की समीक्षा बैठक की।

इस दौरान उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड के ऐसे गांव जो भारत के प्रथम गांव हैं, उनके सुनियोजित विकास के लिए ‘‘मुख्यमंत्री प्रथम ग्राम समेकित विकास योजना’’ शुरू की जायेगी। गांवों में स्वच्छता के लिए ‘मुख्यमंत्री पर्यावरण मित्र’ योजना शुरू की जायेगी। जिसमें प्रत्येक गांव में एक पर्यावरण मित्र (स्वच्छक) की तैनाती की जायेगी। बैठक में ग्राम प्रधानों को आपदा निधि के लिए दस-दस हजार रूपये की निधि प्रदान करने की व्यवस्था कराने और गांवों में चाल-खाल बनाने की दिशा में भी ध्यान देने की बात कही गई। वहीं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ग्राम पंचायतों के सुनियोजित विकास के लिए ‘मुख्यमंत्री चौपाल’ शुरू की जायेगी।

उन्होंने कहा कि वह स्वयं किसी गांव में जाकर चौपाल में प्रतिभाग करेंगे। “मुख्य सेवक चौपाल” में मुख्यमंत्री रात्रि विश्राम भी करेंगे। वहीं उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि गांवों के विकास के लिए किसी गांव में एक कैबिनेट बैठक आयोजित की जाए, जिसमें गांवों के विकास से संबंधित प्रस्ताव हों। विकास के लिए गांवों के विकास पर विशेष ध्यान दिया जाए।  वहीं बैठक में सीएम ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि 2025 में उत्तराखण्ड राज्य स्थापना की रजत जयंती मनायेगा। तब तक गांवों को आदर्श ग्राम बनाने की दिशा में क्या प्रभावी प्रयास किये जा सकते हैं, इस पर विशेष ध्यान दिया जाए। इसके लिए हर गांवों के लिए मास्टर प्लान बनाया जाए। अल्पकालिक एवं दीर्घकालिक लक्ष्य निर्धारित किये जाएं।

Rate this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

हिलवाणी में आपका स्वागत है |

X